जब तक मुआवजा नहीं, डोडाचूरा नष्टीकरण की प्रक्रिया पर लगाए रोक

किसानों ने तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन

छोटीसादड़ी काश्तकारों को मुआवजा राशि देने के बाद ही डोडा चूरा नष्टीकरण करने की मांग को लेकर किसान विकास समिति ने मुख्यमंत्री, जिला कलक्टर, जिला आबकारी अधिकारी के नाम तहसीलदार गणेशलाल पांचाल को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में ने बताया कि पिछले लगातार दो वर्ष से नारकोटिक्स विभाग द्वारा सन 2014.2015 व 2015.2016 में किसानों का डोडा चूरा नष्ट करवाया गया है। जिससे किसानों को भारी आर्थिक नुकसान का सामना करना पड़ा है। पहले जब डोडा चूरा सरकारी टेंडर प्रक्रिया में किसानों से डोडा चूरा 125 रुपए किलो से ठेकेदार द्वारा खरीद किया जा रहा था। लेकिन अब डोडा चूरा नष्टीकरण किए जाने से किसानों की मेहनत को पैरों तले कुचला जा रहा है। किसानों को भारी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है। जिससे किसान मानसिक तनाव में है। जिले में इस वर्ष भी विभाग द्वारा किसानों का डोडा चूरा नष्टीकरण कार्य योजना बनाई गई है, जो न्यायोचित नहीं है। इससे किसानों में भारी आक्रोश है। किसानों की मांग है कि जब तक किसानों को डोडाचूरा का मुआवजा नहीं मिलता है तब तक डोडा चूरा नष्टीकरण नहीं किया जाए। किसानों को मुआवजा नहीं मिले, जब तक डोडा चूरा नष्ट करने की प्रक्रिया को रोका जाए। अन्यथा किसान जन आंदोलन करने को मजबूर होंगे। इस दौरान सैकड़ो किसान मौजूद थे।

किसानों को अब तक नहीं मिला मुआवजा, सरकार के खिलाफ फूटा गुस्सा

प्रतापगढ़ में हुईअतिवृष्टि से फसलों के खराबे का मुआवजा सरकार ने अबतक नहीं दियाहै। इसे लेकर किसानों में असंतोष व्याप्त हो रहा है। भारतीय किसान संघ की शनिवार को यहां हुईबैठक में यदि आगामी दो दिन में किसानों को मुआवजा नहीं दिया गया तो आंदोलन किया जाएगा।भामस की बैठक जिला संरक्षक कर्नल जयराज सिंह की अध्यक्षता में हुई। बैठक में मुख्य वक्ता संघ के प्रांत संगठन मंत्री परमानंद ने कहा कि भामस के संस्थापक दत्तोपंत ठेंगड़ी के जयंती वर्ष पर कईकार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।बैठक किसानों की समस्याओं और सरकार द्वारा की जा रही अनदेखी पर रोष व्यक्त किया गया। भामस के जिला संरक्षक कर्नल जयराजसिंह ने कहा कि सरकार ने खरीफ की फसल खराबे का मुआवजा अभी तक नहीं दिया है। गत दिनों किसानों का एक प्रतिनिधिमंडल इस संबंध में जिला कलक्टर से मिला था। उन्होंने बताया था कि सर्वे रिपोर्टसरकार को भेज दी गई है। एक सप्ताह में किसानों को मुआवजा मिल जाएगा।लेकिन सरकार ने आज तक किसानों को मुआवजा नहीं दिया, जबकि अब किसान रबी की फसल की तैयारी में जुट गए हैं। गरीब किसानों का घर चलना भी मुश्किल हो रहा है। उन्होंने बताया कि पूर्ववर्ती सरकार में किसानों का बिजली का बिल माफ था, अब डिस्कॉम भारी भरकम बिल घरों में भेज रही है। इसके चलते प्रकृति की मार झेल रहा किसान पर दोहरी मार पड़ रही है।बैठक में चेतावनी दी गई कि यदि किसानों की समस्याओं का समाधान नहीं किया गया तो बड़ा आंदोलन किया जाएगा।

Hitesh Upadhyay
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned