वीडियो: खाली पदों से जूझ रहा प्रतापगढ़ का पीजी कॉलेज

वीडियो: खाली पदों से जूझ रहा प्रतापगढ़ का पीजी कॉलेज

Rakesh kumar Verma | Publish: Jan, 10 2018 10:39:12 AM (IST) Pratapgarh, Rajasthan, India

-व्याख्याताओं के 40 में से 27 पद खाली

-प्राचार्य व उपाचार्य के पद ही रिक्त

यह है स्थित
पद स्वीकृत कार्यरत रिक्त
प्राचार्य 1 0 1
उपाचार्य 1 0 1
व्याख्याता 40 13 27
शारीरिक शिक्षक 1 0 1
पुस्तकालयाध्यक्ष 1 0 1
मंत्रालयिक कार्मिक 4 1 3
सहायक लेखाकार 1 0 1
प्रयोगशाला सहायक 5 1 4
मेकेनिक 1 1 0
तकनीकी सहायक 1 0 1
जमादार 1 0 1
प्रयोगशाला वाहक 4 0 4
चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी 7 6 1

प्रतापगढ़.
जिला मुख्यालय स्थित राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय खाली पदों से जूझ रहा है। महाविद्यालय में व्याख्याताओं की कमी के साथ अन्य कई पद खाली पड़े हुए है। महाविद्यालय को खाली पदों से जूझते लम्बा समय हो गया है। महाविद्यालय प्रशासन की ओर से कई पदों को भरने की मांग की गई है। वहीं पढ़ाई में नुकसान सहित अन्य कार्य नहीं हो पाने को लेकर छात्रसंघ व छात्रों की ओर से भी कई बार प्रदर्शन कर पदों को भरने की मांग की गई है, लेकिन कोई फायदा नहीं हो रहा है। मुख्य बात तो यह है की यहां प्राचार्य व उपाचार्य के पद ही रिक्त है।
कैसे हो पढ़ाई
पीजी कॉलेज में वनस्पतिशास्त्र, भौतिकशास्त्र, इतिहास, गृहविज्ञान के व्याख्याताओं के पद भी काफी लम्बे समय से रिक्त चल रहे हैं। विद्यार्थियों ने प्रवेश भी ले लिया, लेकिन अब उन्हें पढ़ाए तो कौन।

ना नई नियुक्ति, ना संविदा पर मिलते व्याख्याता
महाविद्यालय में व्याख्याताओं की कमी काफी लम्बे समय से चल रही है। कॉलेज में 40 व्याख्याताओं के पद स्वीकृत हैं लेकिन इन पर केवल 17 पदों पर ही कार्यरत हंै। ऐसे में 23 पद रिक्त पड़े हुए हैं। राज्य सरकार की ओर से खाली पदों पर सेवानिवृत्त व्याख्याताओं को लगाने के आदेश हैं, लेकिन महाविद्यालय का कहना है कि जिले में सेवानिवृत्त व्याख्याता ही नहीं मिल पा रहे हंै। केवल 4 व्याख्याता संविदा पर कार्य कर रहे हैं। जिसके कारण व्याख्याताओं की कमी पूरी नहीं हो पा रही।
10 वर्ष से अधिक समय से नहीं मिला पीटीआई व पुस्तकालयाध्यक्ष
महाविद्यालय में करीब 10 वर्षों से अधिक समय से शारीरिक शिक्षक व पुस्तकालयाध्यक्ष की नियुक्ति ही नहीं हुई है। जिसके कारण महाविद्यालय में खेल और पुस्तकालय को संभालने वाला कोई नहीं है।

3 हजार 662 विद्यार्थी
कॉलेज में 3 हजार 662 विद्यार्थी अध्ययनरत हैं। जिनमें से स्नातक में एक हजार 506 छात्र व 1767 छात्राएं हैं, वहीं स्नातकोत्तर में 188 छात्र व 201 छात्राएं अध्ययनरत है।
.........................................
कर रखी है मांग
राज्य सरकार से खाली पड़े पदों को भरने के लिए कई बार मांग की गई है। राज्य सरकार की ओर से सेवानिवृत्त को लगाने के आदेश है लेकिन जिले में सेवानिवृत्त नहीं मिल पा रहे हैं।
डॉ एन के जैन, कार्यवाहक प्राचार्य, राजकीय महाविद्यालय, प्रतापगढ़
------------------------------------------

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned