वीडियो: स्वास्थ्य केंद्रों पर पहुंची गर्भवती माताएं, हुई जांच

-प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान

By: Rakesh Verma

Published: 09 Dec 2017, 07:33 PM IST

प्रतापगढ़. मातृ एवं शिशु मृत्यु दर को कम करने के लिए सकारात्मक प्रयास के क्रम में शनिवार को प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान मनाया गया। जिसमें सभी गर्भवती महिलाओं को गुणवत्तापूर्ण प्रसव पूर्व जांच, विशेषज्ञों की परामर्श की नि:शुल्क सेवाएं उपलब्ध करवाई गई। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ ओपी बैरवा ने बताया कि अभियान के दौरान जिले की प्रत्येक गर्भवती महिला को गुणवत्तापूर्ण प्रसव पूर्व जांच सुविधाएं मिल सके इस उद्देश्य को लेकर माह की प्रत्येक 9 तारीख को जिला चिकित्सालय सहित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र और प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर प्रसव पूर्व स्वास्थ्य जांच एवं परामर्श की नि:शुल्क सेवाऐं उपलब्ध करवाई जा रही है। इसके लिए सभी पंजीकृत निजी चिकित्सकों की ओर से भी सरकारी चिकित्सा संस्थानों पर नि:शुल्क प्रसव पूर्व जांच सेवाऐं दी जा रही है। उन्होंने बताया कि अभियान में जिले के सभी ब्लॉकों में सीएचसी व पीएचसी पर गर्भवती महिलाओं के लिए खून की जांच, पेशाब की जांच, रक्तचाप, शुगर आदि जांचों सहित आवश्यक दवाओं की नि:शुल्क सेवाऐं उपलब्ध करवायी गई। ताकि मातृ एवं शिशु मृत्युदर में कमी आए। साथ ही कुशल मंगल कार्यक्रम, सुरक्षित मातृत्व दिवस, एवं प्रसूति नियोजन दिवस आदि विशेष कार्यक्रम भी सीएचसी, पीएचसी व आंगनबाडी केन्द्रों पर पहले से ही जिले में संचालित किए जा रहे है। केंद्रों पर भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना, मुख्यमंत्री राजश्री योजना सहित जननी शिशु सुरक्षित कार्यक्रम के बारे में जानकारी देकर प्रसूताओं को मिलने वाली सरकारी योजनाओं की जानकारी दी जा रही है।
_______________________________

बच्चों को लगाए बीमारियों से बचाव के टीके
-मिशन इंद्रधनुष अभियान
प्रतापगढ़. बच्चों और गर्भवती माताओं को जानलेवा बीमारियों से बचाने के लिए मिशन इंद्रधनुष अभियान में बच्चों को टीके लगाए गए। आरसीएचओ डॉ विनोद मीणा ने बताया कि 2 साल तक के टीकाकरण से वंचित बच्चों एवं गर्भवती माताओं को टीके लगाए गए। अभियान के तहत नियमित अंतर पर 13 दिसंबर तक टीकाकरण सत्र आयोजित किया जाएगा। गौरतलब है कि सघन मिशन इंद्रधनुष अभियान में इस बार उन क्षेत्रों पर विशेष रूप से फोकस किया गया है, जो किन्हीं कारणों से टीकाकरण वंचित रह जाते है अथवा पूरे टीके लगने से छूट जाते है। वहीं इस अभियान की मॉनीटरिंग के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन, यूएनडीपी सहित राज्य सरकार ने अलग से मॉनीटर नियुक्त किए है। जो टीकाकरण स्थल पर जाकर जिले में टीकाकरण की स्थिति की मॉनिटरिंग कर रहे है। सघन मिशन इंद्रधनुष अभियान का यह तीसरा चरण जिले में आयोजित किया जा रहा है। इसके बाद अंतिम और चौथा चरण जनवरी माह में होगा।
कैप्सन- पीपलखूंट ब्लॉक में टीकाकरण करते स्वास्थ्यकर्मी

Rakesh Verma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned