बरडिया बांध में से हो रहा है पानी का रिसाव, विभाग पर अनदेखी का आरोप


प्रतापगढ़. बरडिय़ा बांध में से पानी का रिसाव होने लगा है। इसकी जानकारी पर कई ग्रामीणों ने सरपंच के साथ मौके पर पहुंचे। जहां से जल संसाधन विभाग को सूचना दी गई है। बरडिया बांध पहुंचे व रिसाव होने वाली जगह पर जाकर चेक किया तो पानी के रिसाव बांध के पाल से लगातार हो रहा था।

By: Devishankar Suthar

Published: 28 Jul 2021, 08:08 AM IST


प्रतापगढ़. बरडिय़ा बांध में से पानी का रिसाव होने लगा है। इसकी जानकारी पर कई ग्रामीणों ने सरपंच के साथ मौके पर पहुंचे। जहां से जल संसाधन विभाग को सूचना दी गई है। बरडिया बांध पहुंचे व रिसाव होने वाली जगह पर जाकर चेक किया तो पानी के रिसाव बांध के पाल से लगातार हो रहा था। बरडिया बांध के अध्यक्ष शौकीन पाटीदार ने बताया कि इसकी सूचना पहले भी सम्बंधित विभाग को दे दी गई थी परंतु विभाग ने इस ओर कोई ध्यान ही नहीं दिया। बारिश हुई तो बांध के अंदर पानी की आवक चालू हो गई व बांध भराने लग गया साढ़े पांच फीट बांध भराने के बाद पानी का रिसाव होने लग गया है। जिसको लेकर संबंधित विभाग को बताया है व ग्रामीणों व पंचायत की सहायता से फिलहाल मिट्टी डलवा कर रिसाव रोकने का प्रयास किया गया है। वही बांध के ओवरफ्लो पर बड़े पेड़ उगे हुए है। जिसको लेकर भी विभाग को अवगत करवा दिया है। विभाग ने इस ओर भी कोई ध्यान नहीं दिया। जिसके चलते आने वाले समय मे बांध की दीवारें क्षतिग्रस्त होने की संभावना काफी बढ़ गई है।

पानी निकासी के लिए खोदी खाइयों को यथावत रखने की मांग
छोटीसादड़ी. दूधीतलाई एवं हड़मतिया जागीर गांव के ग्रामीणों ने पानी निकासी के लिए खोदी खाइयों को यथावत रखने की मांग को लेकर एसडीएम विनोद कुमार मल्होत्रा को ज्ञापन दिया।
ज्ञापन में बताया कि दुधीतलाई से हड़मतिया जागीर मार्ग पर मंगरी से आने वाला पानी निकासी के अभाव में भरा रहता है, जिससे आने जाने में परेशानी रहती हैं। परेशानी को दूर करने के लिए ग्राम पंचायत हड़मतिया जागीर ने ग्राम वासियों की मांग पर मार्ग के दोनों और खाई लगाकर पानी की निकासी की थी। लेकिन कुछ लोग इन खाइयों को बंद करा रहे है।
=-=

धीमा पड़ा बारिश का दौर
जिले में मंगलवार को बारिश का दौर धीमा पड़ गया है। इसके साथ ही दिनभर फुहारें और रिमझिम का दौर रुक-रुककर चलता रहा। वहीं जलाशयों में पानी की आवक बढऩे लगी है। मौसम खुलने के साथ ही लोगों ने भी अपने आवश्यक कार्य करने के लिए निकले। किसानों ने भी खेतों में सार-संभाल शुरू कर दी है। जिले में मंगलवार सुबह आठ बजे तक गत २४ घंटों के दौरान सर्वाधिक बारिश पीपलखूंट में ९६ एमएम दर्ज की गई। प्रतापगढ़ में ५७, अरनोद में ४४ और धरियावद, छोटीसादड़ी में दो-दो एमएम बारिश दर्ज की गई है।
=----==
मोवाई.
क्षेत्र में गत दिनों से लगातार बारिश होने से कच्च्चे मकनों में नुकसान पहुंचा है। यहां गांव की रुक्मण सांसरी का कच्चा मकान होने पर बारिश से दीवार ढह गई है। इससे मकान में रखा सामान पानी में भीग गया है।ग्राम पंचातय की अनदेखी का आलम यह है कि विधवा महिला को अभी तक प्रधानमंत्री आवास तक नहीं मिला है।

Devishankar Suthar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned