बालश्रम पर क्या बोले अतिरिक्त कलक्टर, देखें पूरी खबर

-बाल श्रम की रोकथाम को लेकर बैठक आयोजित

By: Rakesh Verma

Published: 07 Jun 2018, 06:31 PM IST

प्रतापगढ़.
बालश्रम की रोकथाम को लेकर अतिरिक्त जिला कलक्टर हेमेन्द्र नागर की अध्यक्षता में गुरुवार को मिनी सचिवालय में बैठक आयोजित की गई। अतिरिक्त जिला कलक्टर ने अधिकारियों से कहा कि जिले में कोई भी बंधक श्रमिक का कार्य करवाता है तो संबंधित के विरूद्ध नियमानुसार कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाए। साथ ही बाल श्रम की रोकथाम के लिए प्रभावी कार्रवाई हो। उन्होंने कहा कि 5 वर्ष तक के आयु के बच्चों को आंगनवाडी केन्द्रों मे भेजा जाए तथा 5 वर्ष से अधिक आयु के बच्चों को पढ़ाई के लिए विद्यालय में प्रवेश दिलाया जाए। उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से एक जुलाई से मिड डे मिल के साथ-साथ बच्चों को दूध भी दिया जाएगा, जिससे उनका सर्वांगीण विकास हो सकेगा। जिला श्रम कल्याण अधिकारी विपिन चौधरी ने बताया कि बंधक श्रमिकों के अन्तर्गत वे श्रमिक आते हंै, जिनसे निर्धारित समय से अधिक कार्य करवाया जाए, न्यूनतम मजदूरी दर से भी कम वेतन दिया जाए और उसकी व्यक्तिगत स्वतंत्रता का हनन करते हुये उसको आर्थिक व मानसिक रूप से प्रताडि़त किया जाए। उन्होंने बताया कि बंधक श्रमिकों के पुर्नवास के लिए राज्य व केन्द्र सरकार प्रतिबद्ध है और उनके लिए कई प्रकर की योजनाएं संचालित की जा रही है। बैठक के दौरान बंधक श्रमिक सर्तकता समिति के सदस्यों सहित जिला परिषद के प्रतिनिधि नानुराम मीणा, श्रम निरीक्षक सुन्दरलाल कटारा, प्रबंधक बीओसीडब्ल्यू अनिल कुमार शर्मा, वन सुरक्षा समिति के अध्यक्ष लक्ष्मण सिंह चिकलाड, मेवाड क्षत्रिय महासभा के अध्यक्ष डीडी सिंह राणावत, समाज सेवक रमेश टांक उपस्थित रहे।
..............................................
सफाई कर्मचारियों ने उठाए झाडू, की सफाई
-प्रदेश नेतृत्व के आह्वान पर सफाई कर्मचारियों ने हड़ताल की समाप्त
प्रतापगढ़.
नगरपरिषद में सफाई कर्मचारियों की भर्ती में वाल्मिकी समाज के लोगों को प्राथमिकता देने की मांग को लेकर सफाई कर्मचारियों की पिछले दो दिनों से जारी झाडू डाउन हड़ताल गुरुवार को हड़ताल समाप्त कर दी गई। हड़ताल के चलते पिछले दो दिनों से शहर में गंदगी पसरी पड़ी थी लेकिन हड़ताल समाप्त हो जाने पर सफाई कर्मचारियों ने शहर में सफाई कार्य किया। जिसके चलते शहर एक बार फिर से स्वच्छ नजर आने लगा।
उठाया धरना
भर्ती में प्राथमिकता की मांग को लेकर वाल्मिकी समाज की ओर से पिछले दो दिनों से नगरपरिषद के आगे धरना भी दिया जा रहा था। प्रदेश नेतृत्व के आह्वान पर धरना भी उठा लिया गया।
चले कचरा संग्रहण वाहन
शहर से डोर टू डोर कचरा संग्रहण करने वाले 8 वाहनों पर कार्यरत कर्मचारी भी हड़ताल के समर्थन में कार्य बहिष्कार पर थे। ऐसे में पिछले दो दिनों से कचरा संग्रहण वाहन नहीं चल रहे थे और घरों से कचरा नहीं उठ रहा था। हड़ताल समाप्त होने के बाद कचरा संग्रहण वाहन भी संचालित हुए।

Rakesh Verma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned