प्रतापगढ़ के लोगों को किससे मिलने लगी हल्की राहत, क्या बढ़ी परेशानी, देखें पूरी खबर

प्रतापगढ़ के लोगों को किससे मिलने लगी हल्की राहत, क्या बढ़ी परेशानी, देखें पूरी खबर

Rakesh kumar Verma | Publish: Jun, 10 2018 07:27:14 PM (IST) Pratapgarh, Rajasthan, India

-अधिकतम तापमान 39 तो न्यूनतम तापमान 27 डिग्री सेल्सियस के करीब

प्रतापगढ़. लम्बे समय से गर्मी की मार झेल रहे जिले में पिछले दो-तीन दिनों से गर्मी का असर कुछ कम देखा जा रहा है। जिसके चलते लोगों को गर्मी से हल्की राहत मिल रही है। जिले में पिछले दो तीन दिनों से तापमापी का पारा गिर रहा है। रविवार को भी अधिकतम तापमान 39 तो न्यूनतम तापमान 27 डिग्री सेल्सियस रहा। जिसके चलते तपिश कुछ कम रही।
बादलों ने बढ़ाई उमस
जिले में तापमान में तो कुछ गिरावट देखी जा रही है जिसके चलते गर्मी से राहत मिल रही है लेकिन हल्के बादलों के चलते उमस बढ़ी हुई है। शहर सहित जिलेभर में सूरज और बादलों के बीच लुकाछिपी चलती रही। जिसके चलते लोगों को गर्मी से राहत रही लेकिन उमस की परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
47 तक पहुंच गया था तापमान
जिले में पिछले दिनों लोगों को जोरदार गर्मी का सामना करना पड़ा था। अधिकतम तापमान 47 डिग्री तक पहुंच गया था वहीं 45-46 डिग्री तापमान तो रोजाना ही बना हुआ था। ऐसे में सूरज मानो आग उगल रहा था जिसने लोगों का जनजीवन अस्तव्यस्त कर रखा था। ऐसे में तापमान में गिरावट से लोगों ने काफी राहत की सांस ली है।
और गिरावट की उम्मीद
मौसम विभाग के अनुसार आने वाले दिनों में भी तापमान में गिरावट रहने की ही संभावना है। आने वाले सप्ताह में अधिकतम तापमान 37 से 39 और न्यूनतम तापमान 23 से 26 डिग्री सेल्सियस रह सकता है। इस दौरान बादलों की आवाजाही भी बनी रहेगी।
::::::::::::::::::::::::::::
कलक्टर ने कहां जांची व्यवस्थाएं, देखें पूरी खबर
-जिला चिकित्सालय का किया अवलोकन
प्रतापगढ़.
जिला कलक्टर भंवरलाल मेहरा ने रविवार को जिला चिकित्सालय का अवलोकन किया। इस दौरान उन्होंने अस्पताल में भर्ती रोगियों से अस्पताल में मिल रही सुविधाओं और सेवाओं आदि के बारे में जानकारी ली। कलक्टर सबसे पहले पीएमओ डॉ राधेश्याम कच्छावा के साथ एमसीएच विंग पहुंचे। यहां उन्होंने एफबीएनसी वार्ड, व चिल्ड्रन वार्ड में व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी ली। शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ धीरज सेन ने उन्हें नवजात शिशु ईकाई एवं शिशु रोग वार्ड में उपचार और यहां पर मौजूद संसाधनों के बारे में जानकारी दी। इसके बाद वे जनाना वार्ड में पहुंचे और जननी शिशु सुरक्षा के लाभ आदि के बारे में पूछताछ की। उन्होंने वार्ड में सफाई व्यवस्था को और बेहतर बनाए जाने के निर्देश दिए। इसके बाद उन्होंने सोनोग्राफी सेंटर पर पहुंचकर यहां पर सोनोग्राफी मशीन और प्रतिदिन सोनोग्राफी करवाने वाले रोगियों की संख्या के बारे में पीएमओ से जानकारी ली। साथ ही अस्पताल परिसर में मुख्यमंत्री के प्राथमिकता वाली भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना, राजश्री योजना से ज्यादा से ज्यादा लोगों को जानकारी देकर उन्हें लाभान्वित करने के उददेश्य से प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिए। अंत में कलक्टर ने कहा कि जहां तक संभव हो रोगियों को गुणवत्ता पूर्ण चिकित्सा सेवाएं उपलब्ध करवाएं एवं गंभीर बीमारियों में विशेषज्ञ सुविधाओं की आवश्यकता पर ही रोगियों को रैफर करें। इस दौरान प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ राधेश्याम कच्छावा और डिप्टी कंटोलर डॉ ओ पी दायमा आदि मौजूद रहे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned