आखिर क्यों करना पड़ा प्रतापगढ़ जेल का निरीक्षण

rajesh dixit

Publish: May, 17 2018 04:52:10 PM (IST)

Pratapgarh, Rajasthan, India
आखिर क्यों करना पड़ा प्रतापगढ़ जेल का निरीक्षण

महिला बंदियों को दी जानकारी

जिला एवं सेशन न्यायाधीश राजेन्द्रसिंह ने किया निरीक्षण
प्रतापगढ़ जेल में बंदियों की स्थिति में सुधार के लिए उपाय सुझाने, रख-रखाव, स्वास्थ्य, स्वच्छता, संस्थागत उपचार और अनुशासन के कुछ न्यूनतम मानकों के अनुरूप बंदियों की स्थिति को सुनिश्चित करने के लिए गुरुवार को जिला एवं सेशन न्यायाधीश राजेन्द्रसिंह ने निरीक्षण किया। इस दौरान समिति की ओर से महिला बंदियों का कई जानकारियां भी दी गई।
जिला कारागृह का निरीक्षण करने के दौरान इन्चार्ज सहायक कारापाल राजेश योगी को महिला बन्दी के साथ मौजूद बच्चों के खाने पीने के पृथक बर्तन रखने, बच्चों को पौष्टिक आहार उपलब्ध करवाने, कारागृह के कमरे से बाहर बच्चों के घुमने की व्यवस्था करने, बच्चों के समयबद्ध टीकाकरण करवाने, स्वच्छ कपड़े उपलब्ध करवाने, महिला बन्दियों को सेनेटरी पेड, नहाने धोने के साबुन, स्वच्छ कपडे उपलब्ध करवाने, महिला बन्दी के बीमार होने पर उचित उपचार, गर्भवती महिलाओं को पौष्टिक आहार एवं समुचित चिकित्सीय उपचार उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए गए।इसके साथ ही महिला बन्दियों को सेनेटरी नेपकीन, साबुन आदि उपलब्ध करवाने तथा नियमों के अधीन रहते हुए सुरक्षा, पेयजल, स्वास्थ्य, स्वच्छता एंव चिकित्सा सुविधा की ओर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए गए।
प्राधिकरण के पूर्णकालिक सचिव विक्रम सांखला ने बताया कि इस मौके पर पैनल लॉयर कुलदीप शर्मा, केन्द्रीय प्रभारी वन स्टॉप सेन्टर पूजासिंह राणा, डॉ. नीलम शुक्ला, डॉ. शांतिलाल शर्मा, मंजू परमार, काउंसलर निशारानी मीणा, सीमा टेलर, डॉ. हितेश जोशी आदि मौजूद थे।
===========================
हर पात्र परिवार को गैस कनेक्शन मिले
जिला कलक्टर की अचलावदा में रात्रि चौपाल
प्रतापगढ़
जिला कलक्टर भंवरलाल मेहरा ने कहा कि राज्य सरकार की मंशानुरूप जिला प्रशासन का ध्येय है कि जिले के हर पात्र परिवार के पास गैस कनेक्शन मिले, ऐसे प्रयास किए जाएं। उन्होंने कहा कि गैस कनेक्शन के कईं फायदे है। जिला कलक्टर ने समस्त विभागों से कहा कि वे अपनी-अपनी योजनाओ में पूर्ण मनोयोग से लगकर आमजन को राहत प्रदान करें, तभी इस पिछड़े तबके को समाज की मुख्य धारा से जोड़ा जा सकता है।
जिला कलक्टर बुधवार रात को अरनोद पंचायत समिति की ग्राम पंचायत अचलावदा के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय प्रांगण में आयोजित रात्रि चौपाल में ग्रामीणों को संबोधित कर रहे थे।
रात्रि चौपाल में जिला कलक्टर ने प्राप्त विभिन्न शिकायतों एवं प्रार्थना पत्रों पर ग्रामीणों से सीधा संवाद किया। पेयजल, विद्युत आपूर्ति, खाद्य सुरक्षा में नाम जुड़वाने तथा सामाजिक सुरक्षा योजना के तहत विभिन्न पेंशन प्रकरणों पर उन्होंने उपस्थित अधिकारियों को मौके पर ही निस्तारित करने के निर्देश दिए।
इस मौके पर जिला पुलिस अधीक्षक शिवराज मीणा ने कहा कि पुलिस विभाग पर विश्वास रखें और यदि आपको कोई भी समस्या हो तो सीधे पुलिस के पास जाएं। बिचैलियों से बचें, क्योंकि बिचैलिए अनावश्यक रूप से आपको परेशानी में डालते है। उन्होंने ग्रामीणों को मौताणे जैसी परम्परा के बारे में विस्तृत से जानकारी देते हुए दोनो तरफ से घर बर्बाद होते है।
ग्रामीणों ने पेयजल की गंभीर समस्या के बारे में बताया। जिस पर जिला कलक्टर ने जलदाय विभाग के अभियंता को निर्देश दिए कि ग्राम पंचायत अचलावदा के समस्त गांवो में टैंकरो के माध्यम से पेयजल आपूर्ति सुनिश्चित करें।इसमें किसी प्रकार की कौताही या शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
महानरेगा कार्य स्थल पर हो पर्याप्त सुविधाएं
जिला कलक्टर मेहरा ने महानरेगा के अधिशाषी अभियंता को निर्देश दिए कि जिले में जहां-जहां भी नरेगा के कार्य चल रहे है। वहां पीने के लिए पेयजल, छाया, दवाईयां एवं नन्हें बच्चों के लिए पालने की सुविधा आवश्यक रूप से रहे, यह सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि जहां.जहां जरूरत हैं वहां नरेगा के कार्य निरन्तर चलते रहे और यदि गांव में कोई व्यक्ति जॉबकार्ड से वंचित हैं तो तत्काल उसका जॉबकार्ड जारी किया जाकर उसे रोजगार दिया जाए।
ब्लॉक मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए कि ग्रामीणों को 108 एम्बुलेंस एवं जननी एक्सप्रेस की सुविधा समय पर मिले यह आवश्यक रूप से सुनिश्चित करें। साथ ही मुख्यमंत्री नि:शुल्क दवा योजना के तहत प्रत्येक प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर पर्याप्त दवाइयां उपलब्ध रखने के साथ चिकित्सालय भवन एवं परिसर की नियमित रूप से साफ.-सफाई हो।
अरनोद से अचलावदा वाया मचलाया सडक़ के प्रस्ताव भिजवाए
ग्रामीणों ने जिला कलक्टर ने गुहार लगाई कि अरनोद से अचलावदा वाया मचलाया सडक़ को डामरीकरण करवाया जाए। जिस पर जिला कलक्टर ने कहा कि चार किलोमीटर मार्ग को डामरीकरण करवाने पर एक करोड़ 55 लाख 6 9 हजार रुपए का प्रस्ताव सार्वजनिक निर्माण विभाग द्वारा राज्य सरकार को भिजवा दिया गया है।
इस मौके पर उपखण्ड अधिकारी कुलराज मीणा, सरंपच चिमनलाल मीणा, विकास अधिकारी फिरोज खान, तहसीलदार नानालाल मेघवाल, बीईईओ आनन्दीलाल ठाकुर, पुलिस उपाधीक्षक शैतानसिंह सहित जिला स्तरीय एवं ब्लॉक स्तरीय अधिकारी व ग्रामीण उपस्थित थे।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned