सीतामाता अभयारण्य में जंगली सूअर का किया शिकार

प्रतापगढ़. धरियावद. सीतामाता वन्यजीव अभयारण में जंगली सूअर का शिकार करने का मामला सामने आया है। वन विभाग ने शिकारियों पर कार्रवाई की, इस दौरान शिकारी मौके से भाग गए। जबकि वन विभाग की टीम ने तीन मोटरसाइकिलें और एक साइकिल पर सूअर का मांस बरामद किया है। मोटरसइकिलों के नंबर के आधार पर आरोपियों की तलाश की जा रही है।

By: Devishankar Suthar

Published: 13 Jan 2021, 08:36 AM IST


वन विभाग ने मांस परिवहन करते तीन मोटरसाइकिल एवं एक साइकिल जब्त की
-शिकारी हुए फरार
प्रतापगढ़. धरियावद. सीतामाता वन्यजीव अभयारण में जंगली सूअर का शिकार करने का मामला सामने आया है। वन विभाग ने शिकारियों पर कार्रवाई की, इस दौरान शिकारी मौके से भाग गए। जबकि वन विभाग की टीम ने तीन मोटरसाइकिलें और एक साइकिल पर सूअर का मांस बरामद किया है। मोटरसइकिलों के नंबर के आधार पर आरोपियों की तलाश की जा रही है।
बडीसादड़ी रेंज के क्षेत्रीय वन अधिकारी भगवतसिंह के नेतृत्व में वन विभाग टीम ने मंगलवार को अभयारण क्षेत्र के पास जंगली सूअर के मांस सहित तीन मोटरसाइकिल सहित एक साईकिल को मौके से जब्त किया। आरोपी मौके से फरार हो गए। क्षेत्रीय अधिकारी सिंह के अनुसार टीम को मुखबिर के जरिए जंगली सूअर का शिकार करने के बाद मांस परिहवन की सूचना मिली थी। गश्ती टीम ने मौके पर पहुंच कार्यवाई की। 3 मोटरसाइकिल, एक साइकिल पर मांस को बरामद किया है। इस दौरान आरोपी मौके से फरार हो गए। वन्यजीव सरक्षंण अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया है। इधर मामले में उपवन सरक्षंक वन्यजीव डॉ टी मोहनराज एव सहायक वन सरक्षंक सुनिलकुमार सिंह के निर्देशन में टीम सीतामाता वन्यजीव अभ्यारण क्षेत्र में गश्त एवं सर्च अभियान जारी हैं।
===
=::=
प्रतापगढ़ में बर्ड फ्लू से बढ़ी चिंता
प्रतापगढ़.
-जिले में एमपी सीमा के पास नानणा गांव में गत दिनों पांच कौओं की मौत बर्ड फ्लू से होने के बाद चिंता बढ़ गई है। जहां पशु पालन विभाग की ओर से सतर्कता बरतने के लिए कवायद शुरू कर दी है। वहीं वन विभाग ने भी चौकसी बढ़ा दी है। इसके साथ ही विभागों की ओर से जो टीमें गठित की गई है। उन्हें आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए गए है। जिससे जिले में बर्ड फ्लू से बचाव हो सके।
गौरतलब है कि ६ जनवरी को नानणा गांव में पाच कौओं की मौत हो गई थी। जांच में इनमें बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई। इसके साथ ही जिले में पशुपालन विभाग और वन विभाग सतर्क हो गया है। इसके लिए शहर में भी सभी कर्मचारियों को सतर्क किया गया है।
सहायक वन संरक्षक सुबोधकुमार राजपूत ने बताया कि जिले में सभी कर्मचारियों को सावचेत किया गया है। जो अपने क्षेत्र में जलाशयों की निरागनी कर रहे है। इसके साथ ही शहर में सफाईकर्मियों को हाथों में पहनने के दस्ताने दिलाए गए है। सभी को कहा गया है कि कोइ भी पक्षी अगर मृत मिलता है, तो इसकी सूचना वन विभाग और पशुपालन विभाग को देनी है। वहीं पशुपालन विभाग के नोडल अधिकारी डॉ. जयप्रकाश परतानी ने बताया कि जिले में टीमें गठित की गई है। अपने इलाकों में नजर रखे हुए है। सभी पॉल्ट्री फार्म संचालकों को भी सावचेत रहने के लिए कहा गया है।
जिले में आठ पॉल्ट्री फार्म संचालित है। इन सभी को बर्ड फ्लू को लेकर सावधानी बरतने के लिए कहा गया है।

Devishankar Suthar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned