पत्रिका स्थापना दिवस पर  अदालत परिसर में योग शिविर, कोरोना वायरस से लडऩे में सक्षम है योग व आयुर्वेद

- विशेष योग शिविर में बोले जिला व सत्र न्यायाधीश

By: Rakesh Verma

Updated: 07 Mar 2020, 08:35 PM IST

प्रतापगढ़. स्वर्णिम भारत मुहिम के ‘पत्रिका मास्टर की’ अभियान के तहत शनिवार को राजस्थान पत्रिका का 65वां स्थापना दिवस मनाया गया। इस मौके पर जिला अदालत परिसर में विशेष योग शिविर आयोजित किया गया। इस शिविर में कोरोना वायरस से जनित बीमारी से बचने के लिए विशेष उपाय बताए गए। मुख्य अतिथि जिला व सत्र न्यायाधीश राजेन्द्र शर्मा ने कहा कि भारतीय जीवन मूल्य, यहां का खान पान, आयुर्वेद और योग कोरोना वायरस जैसी घातक बीमारियों से लडऩे में सक्षम है। यही कारण है कि भारत में अभी तक यह बीमारी नियंत्रण में है।
न्यायाधीश शर्मा ने कहा कि भारत में अभी तक कोरोना वायरस बहुत कम फैला है। इसके पीछे प्रमुख कारण हमारे देश की प्राचीन संस्कृति है। अभी हमारे यहां जीवन मूल्य जिंदा है। मर्यादित खान-पान, आचार-विचार और जीवन चर्या हमारे ऋषियों की परम्परा रही है। हमने उसे अपनाया है। हमारे जीवन मूल्य और जीवन चर्या इतनी सशक्त है कि यहां न कोईवायरस पनप सकता है और हम किसी वायरस को पनपने देंगे। स्वस्थ भारत समर्थ भारत का निर्माण हो कर रहेगा। स्वदेशी चिकित्सा, योग व आयुर्वेद कारोना वायरस से लडऩे में सक्षम है। हमारे ऋषियों ने हजारों वर्ष पहले ही इन सब बीमारियों से लडऩे का उपाय ढूंढ लिया था। पत्रिका के स्वर्णिम भारत अभियान की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि अब भारत को स्वर्णिम और समृद्ध होना ही होगा।
...भस्त्रिका प्राणायाम बचाएगा कोरोना से...
शिविर में पंतजलि योग समिति के योग प्रशिक्षक एडवोकेट तरूणदास बैरागी ने प्राणायाम व सूक्ष्य व्यायाम की विभिन्न मुद्राओं का अभ्यास कराया। उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस निम्न रोग प्रतिरोधक क्षमता वाले लोगों के श्वसन तंत्र पर सबसे पहले अटैक करता है। भस्त्रिका प्राणायाम करने से फेफड़े मजबूत होते और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। इससे कोरोना वायरस जैसी बीमारियां पास भी नहीं फटकती। उन्होंने बताया कि भस्त्रिका प्राणायाम में लंबे और गहरे श्वास लिए जाते हैं। इससे फैफड़ों में ऑक्सीजन का धनत्व बढ़ता है। अब जीवन विज्ञान के शोधों में भी यह बात प्रमाणित हो चुकी कि जिस शरीर में ऑक्सीजनेटेड एरिया ज्यादा होता है, वहां कोईबीमारी अटैक नहीं करती। इसलिए योग करते समय भस्त्रिका प्राणायाम पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए।
दस दिन तक चलेगा विशेष शिविर
योग प्रशिक्षक तरूण दास बैरागी ने बताया कि अदालत परिसर के अभिभाषक संघ सभागार में कोरोनावायरस रोग निवारण पर आधारित यह विशेष शिविर सुबह 6.30 बजे से 7.30 बजे तक चलेगा। अब यह शिविर आम लोगों के लिए भी खुला है। फिलहाल यह विशेष शिविर यहां दस दिन तक चलेगा। शिविर के अंत में प्रतापगढ़ अभिभाषक संघ के अध्यक्ष ललित नारायण शुक्ला ने आभार व्यक्त किया। शिविर में इस मौकेे पर पत्रिका के स्वर्णिम भारत अभियान की जानकारी दी गई। इस मौके पर अभिभाषक संघ के सचिव तेजपाल सिंह राठौड़, एडवोकेट महिपाल सालगिया, एडवोकेट राजेश शर्मा, एडवोकेट रमेश चंद्र शर्मा, एडवोकेट सिद्धार्थ मोदी, एडवोकेट अरूण वैष्णव और नर्सिंग एसोसिएशन के जिला अध्यक्ष मनोज पासवान आदि मौजूद थे।

Rakesh Verma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned