लोकसभा चुनाव से पहले राजा भैया ने रोड शो कर दिखाई ताकत, किया यह दावा

लोकसभा चुनाव से पहले राजा भैया ने रोड शो कर दिखाई ताकत, किया यह दावा
Raja Bhaiya Road Show

Sarweshwari Mishra | Publish: May, 09 2019 03:55:43 PM (IST) | Updated: May, 09 2019 03:55:44 PM (IST) Allahabad, Allahabad, Uttar Pradesh, India

प्रतापगढ़ सीट पर है चतुष्कोणीय मुकाबला

प्रतापगढ़. लोकसभा क्षेत्र से जनसत्ता दल लोकतांत्रिक के प्रत्याशी अक्षय प्रताप सिंह "गोपाल जी" के समर्थन में गुरुवार को राष्ट्रीय अध्यक्ष जनसत्ता दल लोकतांत्रिक राजा भैया ने प्रतापगढ़ लोकसभा क्षेत्र के जनसम्पर्क कार्यक्रम में हिस्सा लेते हुए विशाल रोड शो निकाला। राजा भैया ने अपने प्रत्याशी अक्षय प्रताप सिंह के लिए वोट मांगा। इस दौरान वह रानीगंज से चलकर प्रतापगढ़ तक रोड शो किए। समर्थकों ने जगह-जगह राजा भैया का भव्य स्वागत किया। रोड शो के दौरान राजा भैया ने कहा कि हम चुनाव जीत रहे हैं। प्रतापगढ़ से अक्षय प्रताप सिंह चुनाव जीतकर आप सभी के आशीर्वाद से संसद में जाएंगे।

प्रतापगढ़ सीट पर है चतुष्कोणीय मुकाबला
प्रतापगढ़ लोकसभा सीट पर इस बार चतुष्कोणीय मुकाबला देखने को मिल रहा है । जनसत्ता दल लोकतांत्रिक के प्रत्याशी अक्षय प्रताप सिंह की टक्कर कांग्रेस प्रत्याशी राजकुमारी रत्ना सिंह, भाजपा प्रत्याशी संगमलाल गुप्ता और महागठबंधन के प्रत्याशी अशोक त्रिपाठी से है । अक्षय प्रताप सिंह राजा भैया के चचेरे भाई हैं। प्रतापगढ़ संसदीय सीट पर राजा भैया के भदरी व राजकुमारी रत्ना सिंह के कलाकांकर रियासत के बीच पहले भी चुनावी मुकाबला हो चुका है। वर्ष 2004 में सपा के सहयोग से राजा भैया के चचेरे भाई अक्षय प्रताप सिंह ने राजकुमारी रत्ना के खिलाफ चुनाव लड़ा था। राजा भैया का अपना जनाधार व सपा के समर्थन के चलते अक्षय प्रताप सिंह ने राजकुमारी रत्ना को शिकस्त देकर पहली बार सांसद बने थे। इसके बाद वर्ष 2009 में हुए संसदीय चुनाव में कहानी बदल गयी थी। कांग्रेस से ही चुनाव लड़ी राजकुमारी रत्ना सिंह ने अक्षय प्रताप सिंह को हरा कर अपना बदला लिया था। इस चुनाव में राजकुमारी रत्ना सिंह को 1,67,137 व अक्षय प्रताप सिंह को 1,21,252 वोट मिले थे। वर्ष 2014में भी अक्षय प्रताप सिंह इस सीट पर चुनाव नहीं लड़े थे जबकि राजकुमारी रत्ना सिंह को कांग्रेस से ही टिकट मिला था। इस चुनाव में बीजेपी की सहयोगी अपना दल के कुंवर हरिवंश सिंह ने चुनाव जीता था।

BY-Sunil Somvansi

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned