दबंगों ने पिता-पुत्र की गोली मारकर की हत्या, गांव में तनाव के चलते 12 थानों की पुलिस फोर्स तैनात

- इसी तरह 7 साल पहले 2013 में सीओ जियाउल की हुई थी हत्या

By: Neeraj Patel

Published: 02 Nov 2020, 08:35 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
प्रतापगढ़. जिले में सोमवार की शाम दबंगों ने पड़ोसियों ने पिता-पुत्र की गोली मारकर हत्या कर दी। एक पक्ष धान से लदा ट्रैक्टर-ट्राली लेकर अपने घर ले जा रहा था, जिसका दूसरे पक्ष ने विरोध किया। इसी बात को लेकर हुई दोनों पक्षों में पहले मारपीट हुई इसके बाद दबंगों ने फायरिंग कर दी। जिसमें गोली लगने से पिता-पुत्र की मौके पर मौत हो गई। सूचना पर एसपी व अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे। पुलिस ने सूझबूझ दिखाते हुए तत्काल शव को अपनी हिरासत में लेकर पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। वहीं ग्रामीण प्रदर्शन की तैयारी में थे। गांव में तनाव का माहौल है। साल 2013 में इसी गांव में हत्या के बाद शव को पोस्टमार्टम भिजवाने पहुंचे सीओ जियाउल हक की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई थी।

जानिए क्या पूरा मामला

जनपद के हथिगवां थाना क्षेत्र अंतर्गत बलीपुर गांव जिला मुख्यालय से करीब 70 किमी दूर है। सोमवार को गांव निवासी शीतला सिंह अपने बेटे डब्लू सिंह के साथ खेत में धान की पिटाई के बाद फसल ट्रैक्टर ट्राली पर लादकर अपने घर ले जा रहे थे लेकिन पड़ोसी राजेंद्र सिंह ने अपने घर के सामने से ट्रैक्टर ट्राली जाने से रोक दिया। इस बात को लेकर दोनों पक्षों में कहासुनी होने लगी। थोड़ी देर में मामला इतना बढ़ गया मारपीट हो गई। इसी बीच शीतला सिंह ने अपनी बंदूक से राजेन्द्र सिंह और उनके बेटे अभय सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी।

गांव में 12 थानों की फोर्स तैनात

इस मामले में एसआई सूर्य प्रताप सिंह ने मौके पहुंच आनन फानन में शव को कब्जे में लिया और बड़ी मशक्कत के बाद स्थिति को संभाला और किसी तरह दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। इसके साथ ही एसपी अनुराग आर्य, सीओ कुंडा जितेंद्र सिंह परिहार, एएसपी पश्चिमी दिनेश चंद्र द्विवेदी भी मौके पर पहुंचे। गांव में तनाव के कारण करीब 12 थानों की फोर्स तैनात की गई है। पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी हुई है।

Show More
Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned