दलित छात्रा को रास्ते से उठा ले गए, दो दिन बाद बनारस स्टेशन पर इस हाल में मिली, बताया क्या हुआ उसके साथ

यूपी के प्रतापगढ़ से अगवा की गयी थी दलित छात्रा, परिजनों का आरोप दो दिनों तक दो-दो थानों की पुलिस ने उनकी नहीं सुनी।

प्रतापगढ़. उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले में स्कूल जा रही एक दलित छात्रा को गाड़ी से आए कुछ अज्ञात बदमाश उठा ले गए। परिजनों के मुताबिक वह दो दिनों तक जिले के दो-दो थानों के चक्कर लगाते रहे पर उनकी सुनी नहीं गयी। उनकी बेटी दो दिन बाद बनारस के रेलवे स्टेशन पर अचेतावस्था में पायी गयी। इसके बाद लड़की ने पूरी कहानी सुनायी कि सउसे कब और कैसे उठा लग गए। बेहोशी की हालत में उसके साथ क्या हुआ उसे कुछ पता नहीं।

 

 

घटना प्रतापगढ़ के कोहड़ौर थानाक्षेत्र की है। लड़की और उसके परिजनों के मुताबिक कंधाई थानान्तर्गत एक गांव की रहने वाली है। रोज की तरह वह दो दिन पहले स्कूल गई थी। वहां कुछ तबीयत खराब हुई तो वह वापस घर लौटने लगी। इसी बीच उसे रास्ते में गाड़ी सवार कुछ लोग मिले, जो उससे रास्ता पूछने लगे। वह उन्हें रास्ता बता ही रही थी कि पीछे से पकड़कर जबरदस्ती गाड़ी में बैठा लिया और कोई नशीला पदार्थ खिलाकर बेहोश कर दिया। लड़की ने बताया कि इसके बद उसके साथ क्या हुआ उसे कुछ भी याद नहीं।

 

होश आया तो वह बहुत से लोगों से घिरी हुई बनारस के रेलवे स्टेशन पर थी। उसके गले में लटक रहे आईकार्ड से नंबर लेकर लोगों ने परिजनों को सूचना दी, जिसके बाद पहुंचे घरवाले उसे वापस ले गए। लड़की के परिजनों का कहना है कि उन्होंने बेटी को खोजने के लिये कोहड़ौर और कंधाई थाने में गुहार लगाई लेकिन पुलिस ने एक नहीं सुनी। मामला बढ़ने पर पुलिस हरकत में आयी है और एसपी एस आनंद ने कंधाई के इंचार्ज इंस्पेक्टर राधेश्याम को फटकार लगाई। एसपी के मुताबिक घटना का पुलिस ने संज्ञान लिया है, परिजनों की तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। विवेचना की जा रही है जो भी बातें निकलकर आएंगी उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

By Sunil Somvanshi

Show More
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned