ज्योति को मिला इंसाफ, चार आरोपियों को आजीवन कारावास

ज्योति को मिला इंसाफ, चार आरोपियों को आजीवन कारावास
Court

25 सितंबर 2015 को जमीन विवाद में पड़ोसियों ने जलाया था जिंदा, अस्पताल में हुई थी मौत

प्रतापगढ़. ज्योति हत्याकांड में  शनिवार को चारों आरोपियों को प्रतापगढ़ न्यायालय ने आजीवन कारावास की सजा सुनाया है। 25 सितंबर 2015 को जमीन विवाद में ज्योति को जिंदा जला दिया गया था। अस्पताल में इलाज के दौरान कई दिनों बाद ज्योति की मौत हो गई थी।


जेठवारा थाना के श्रीपुर गांव निवासी ज्योति विश्वकर्मा (18) पुत्री राजेन्द्र विश्वकर्मा 25 सितंबर 2015 को शौच के लिये गई थी, इसी बीच पड़ोसियों ने उसे अगवा कर लिया और उसे जिंदा जलाने का प्रयास किया। परिजन आनन- फानन में उसे अस्पताल ले गये, जहां उसकी गंभीर हालत को देखते हुए इलाहाबाद रेफर किया गया था।


यह भी पढ़ें:  पीडब्लयूडी में सरकारी राशि का गबन, 5.84 लाख का फर्जी भुगतान



इलाहाबाद के स्वरूपरानी अस्पताल में जीवन मृत्यु के बीच कई दिनों के संघर्ष के बाद उसकी मौत हो गई। परिजनों की तहरीर पर ओम प्रकाश मौर्य व उसकी पत्नी समेत चार लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गयी थी।
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned