निकाय चुनाव में हार के बाद बसपा ने की एक और कार्रवाई, इस दिग्गज नेता को निकाला

बसपा ने जिलाध्यक्ष लालचंद गौतम को हटाते हुए उनकी जगह नये जिलाध्यक्ष की नियुक्ति की घोषणा की।

By: Akhilesh Tripathi

Published: 11 Dec 2017, 08:52 PM IST

प्रतापगढ़. निकाय चुनाव में मिली हार के बाद बहुजन समाजवादी पार्टी परिणाम की समीक्षा में जुटी है। पार्टी उन नेताओं पर कार्रवाई में भी जुटी है, जिन पर चुनाव के दौरान पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप है। इसी के क्रम में सोमवार को बसपा ने जिलाध्यक्ष लालचंद गौतम को हटाते हुए उनकी जगह नये जिलाध्यक्ष की नियुक्ति की घोषणा की।

 

लालचंद गौतम निकाय चुनाव में टिकट वितरण में धन उगाही के आरोपो में घिरे थे। डॉ. अशोक सिद्धार्थ, सदस्य राज्य सभा, जोन इंचार्ज ने बसपा सुप्रीमो मायावती के निर्देश पर यह कार्रवाई की है । लालचंद गौतम की जगह सुशील कुमार गौतम को नया जिलाध्यक्ष बनाया गया है।

 

 

बसपा ने एक रणनीति के तहत निकाय चुनाव में सिंबल पर मैदान में उतरने का फैसला लिया था। पार्टी के अनुसार साल 2014 के लोकसभा और यूपी विधानसभा चुनाव में पार्टी को मिली करारी हार से टूटे कार्यकर्ताओं के मनोबल में नयी जान फूंकने के लिये निकाय चुनाव में जमीनी स्तर से जुड़ने की कोशिश के तहत इस बार पार्टी मैदान में थी।

 

यह भी पढ़ें:

योगी राज में यूपी में आए किन्नरों के अच्छे दिन, मिली यह बड़ी जिम्मेवारी

 

नगर पालिका परिषद की कुल 198 सीटों में बसपा के 29 अध्यक्ष चुने गये हैं जबकि सभासद उम्मीदवारों में 262 ने जीत हासिल की है। परिषद के सभासदों की कुल संख्या 5261 है। नगर पंचायतों की कुल 438 सीटों में से अध्यक्ष पद पर उसके 45 उम्मीदवार जीतने में कामयाब रहे हैं। नगर पंचायत के कुल सदस्यों 5434 में 218 बसपा के चुने गये हैं।

 

 

वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में बसपा को राज्य में लोकसभा की कुल 80 सीटों में से उसे एक पर भी जीत नहीं मिल पायी थी। पार्टी का खाता भी नहीं खुल सका था। इस साल हुए राज्य विधानसभा चुनाव में भी पार्टी को करारी हार का सामना करना पड़ा था। पार्टी 403 विधानसभा सीट में से महज 19 सीट पर जीत हासिल की थी।

 

Show More
Akhilesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned