तेंदुए ने इस गांव में किए कई शिकार, फैली दहशत...

तेंदुए ने इस गांव में किए कई शिकार, फैली दहशत...

Ashish Shukla | Publish: Jan, 11 2018 09:24:05 PM (IST) Varanasi, Uttar Pradesh, India

गाय समेत 15 पशुओं का किया शिकार, एक ग्रामीण ने भागकर बचाई जान

प्रतापगढ़. अपराधियों के बाद अब तेंदुओं ने जनपद में दहशत फैला दी है। बाघराय थाना क्षेत्र के रोर, शुकुलपुर, पचंइया गांवों में तेंदुओं के हमले से एक दर्जन से अधिक पशुओं की मौत हो गई। जिसमें छप्पर में बंधी गाय के अलावा 14 कुत्ते शामिल हैं। वहीं, ग्रामीण अनिल शुक्ल ने भागकर जैसे-तैसे अपनी जान बचाई। घटना के बाद क्षेत्र के गांवों में दहशत फैल गई। सूचना पाकर मौके पर पहुंचे बाघराय थाने के एसओ एनके नागर एवं वन विभाग के रेंजर ने आक्रोशित ग्रामीणों को किसी तरह समझा-बुझाकर शांत कराया और शासन से मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया।

 


जानकारी के अनुसार गुरुवार की सुबह शुकुलपुर पचइयां गांव के उमा शंकर शुक्ल व हरिकेश शुक्ल के दरवाजे को धक्का देते हुए मादा तेंदुआ और दो शावकों ने अनिल शुक्ल के छप्पर में बंधी गाय पर हमला कर उसे मौत की नींद सुला दिया। घटना के समय अनिल बगल के छप्पर में सो रहा था। तेंदुएं के हमले से चीत्कार रही गाय की आवाज सुनकर गाय के छप्पर की ओर दौड़ा, तो गाय पर झपटे तेंदुए को देख शोर मचाते हुए बाहर भागा। हो-हल्ला सुनकर ग्रामीण भी लाठी-डंडे लेकर घटना स्थल की ओर दौड़ पड़े। ग्रामीण पहुंचे, तो तेंदुआ भाग निकला। गांव के चौकीदार ने बाघराय के थानाध्यक्ष को इसकी सूचना दी। सूचना पाकर थाना प्रभारी अपने हमराहियों एवं वन विभाग के लाव-लश्कर के साथ पहुंचे और ग्रामीणों से इस संबंध में जानकारी ली। आक्रोशित ग्रामीणों को किसी तरह समझाकर शांत कराया। एसओ ने अनिल शुक्ल को आर्थिक सहायता दिलाने का आश्वासन दिया।

 


भयभीत ग्रामीण छोड़ेंगे गांव!
अनिल शुक्ल तेंदुए के हमले से तो बच गया, लेकिन वह और कुछ अन्य ग्रामीण इतने भयभीत हैं कि भय से गांव छोड़ने की बात करने लगे हैं। घटना के बाद वन विभाग ने देवरहीं, हरदोपट्टी, मलावां छजईपुर, उमरा पट्टी, लोसनापुर, छतार, रोर, पूरेडिघटन, कोरडाजीत, खरगापुर आदि गांवों में तेंदुओं के छिपे होने की आशंका जाहिर की है। जिससे इन गांवों के ग्रामीण भय के साये में जीने को विवश हैं।

 

 

Input By : Sunil Somvanshi

Ad Block is Banned