यूपी के प्रतापगढ़ में पुलिस इंस्पेक्टर के फॉर्म हाउस से बरामद हुई जहरीली शराब की खेप

Jyoti Mini

Publish: Mar, 01 2018 02:19:41 PM (IST)

Varanasi, Uttar Pradesh, India

प्रतापगढ़. जिले में पुलिस इंस्पेक्टर के फॉर्म हाउस से जहरीली शराब का जरीखा बरामद किया गया है। प्रतापगढ़ जिला अवैध शराब की मंडी बन चुका है। सरकार कोई भी हो इन शराब माफियाओ का काला कारोबार बदस्तूर जारी है। यहां करोड़ों की शराब और शराब बनाने के उपकरण व फक्ट्रियां बरामद होती रही हैं। बावजूद इसके शराब तस्करी रुकने का नाम नही ले रही।

ताजा मामला कुंडा सर्किल के नबावगंज थाना इलाके का है। जहां पुलिस इंस्पेक्टर के फॉर्महाउस से ट्रक पर लदी आठ सौ पचहत्तर पेटी अवैध शराब बरामद की गई है। यह छापेमारी स्वाट टीम इंटेलिजेंस विंग और इलाकाई पुलिस ने संयुक्त रूप की है। यह शराब हरियाणा की बनी हुई बताई जा रही है। जिसे अरुणचल प्रदेश में वैधानिक रूप से बेचा जा सकता है। इस छापेमारी में ट्रक समेत एक ब्रेजा कार, तीन पिकअप, एक पिस्टल और पांच अदद जिन्दा कारतूस 32 बोर बरामद किया गया।

मौके से अजय सिंह और अरुण सिंह सहित पांच लोग गिरफ्तार किए गए। जबकि दो लोग मौका पाकर फरार हो गए। गिरफ्तार अभियुक्तों ने बताया कि, इस खेल के पीछे महेशगंज कोतवाली इलाके के पुरमई का रहने वाला चर्चित शराब माफिया सुधाकर सिंह है। जिसकी राजनितिक गलियारे में ऊंची पहुंच है। जिसके चलते अब तक पुलिस के हांथ इस शराब माफिया के गिरेबान तक नहीं पहुंच सके। जबकि सुधाकर धड़ल्ले से अपने शराब के काले कारोबार को चला रहा है। पकड़े गए अभियुक्तों ने ये भी स्वीकार किया कि, शराब की क्षमता बढ़ाने के लिए इसमें हानिकारक केमिकल भी मिलाया जाता जिसके चलते शराब बहुत तेजी से असर करती है।

अधिकारियों का दवा है कि, ये खेप होली के मद्दे नजर लाई गई थी। जबकि वर्षों से जिले में अवैध शराब का कला कारोबार फलफूल रहा है। वो भी माफियाओं के साथ ही नेताओं और पुलिस की मदद से। बता दें, उक्त फार्म हॉउस इंस्पेक्टर ने अपने रिश्तेदार के नाम अभी हाल ही में खरीदा है। पहले यह फार्म हॉउस कुंडा मे तैनात एक डॉक्टर का था।

input- सुनील सोमवंशी

 

Ad Block is Banned