राजा भैया के गढ़ में बीजेपी नेताओं को पुलिस ने पीटा, सैकड़ों समर्थकों के साथ पहुंचे मंत्री-विधायक

Jyoti Mini

Publish: Jan, 08 2018 06:08:41 (IST)

Varanasi, Uttar Pradesh, India
राजा भैया के गढ़ में बीजेपी नेताओं को पुलिस ने पीटा, सैकड़ों समर्थकों के साथ पहुंचे मंत्री-विधायक

यूपी के प्रतापगढ़ में पुलिस व बीजेपी नेताओं के बीच मारपीट का मामला सामने आया है।

प्रतापगढ़. यूपी के प्रतापगढ़ में पुलिस व बीजेपी नेताओं के बीच मारपीट का मामला सामने आया है। जिले के बीजेपी कार्यालय के सामने गाड़ी हटाने के विवाद में पुलिस पर भाजपा जिला विस्तारक आदित्यकान्त द्रिवेदी की पीटाई का आरोप है। आरोप है कि, पुलिस ने बीजेपी कार्यालय से भाजपा नेता को हिरासत में लेकर तीन घंटों तक कोतवाली में बिठाए रखा। भाजपा के नेताओं के हस्ताक्षेप के बाद पुलिस ने कोतवाली से छोड़ा।

नगर कोतवाल, सीओ सिटी पर भाजपा के नेताओं ने पीटने का आरोप लगाया है। पुलिस के रवैये से आक्रोशित भाजपा के सैकड़ों कार्यकर्ताओं और पदाधिकारी शहर पहुंचे। भाजपा कार्यालय कैबिनेट मंत्री मोती सिंह, रानीगंज विधायक धीरज ओझा के सामने ही नाराज भाजपा के कार्यकर्ताओं ने एसपी,सीओ के विरुद्ध नारेबाजी करने लगे।

एसपी, सीओ समेत तमाम दोषी पुलिस कर्मियों को हटाने की मांग करते रहे। घंटों तक बीजेपी कार्यालय पर भाजपा के कार्यकर्ता और नेता हंगामा करते रहे। मंत्री मोती सिंह और विधायक धीरज ओझा के समझाने पर भी कार्यकर्ता नहीं मान रहे थे। किसी तरह घंटों बाद कार्यकर्ता, मंत्री के दोषी अफसरों के विरुद्ध कार्रवाई के आश्वासन के बाद शांत हुए।

वहीं हंगामे के दौरान मंत्री मोती सिंह का पारा भी चढ़ गया। सैकड़ों पार्टी कार्यकर्ताओं को बैठक के दौरान ही फटकार लगाई। आपको बता दें कि, रविवार शाम को पुलिस ने भाजपा कार्यालय के सामने सड़क पर खड़ी गाड़ी को हटाने को लेकर भाजपा नेता से कहासुनी होने लगी।

जिसके बाद पुलिस ने गाड़ी की हवा निकल दी। जिसके बाद पुलिस और भाजपा के नेता आपस में भीड़ गए। भाजपा नेताओं का आरोप है कि, पुलिस ने पिटाई करते हुए कोतवाली में बंद कर दिया। जिसके बाद जिले के भाजपा के नेताओ में आक्रोश फ़ैल गया। सोमवार सुबह से ही भाजपा नेताओं का पार्टी कार्यालय पर जमावड़ा लगना शुरू हो गया।

वहीं पूरे मामले में कैबिनेट मंत्री राजेन्द्र प्रताप उर्फ़ मोती सिंह का कहना है कि, एसपी, डीएम से बात हुई है जो भी मामले में दोषी है उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। वहीं भाजपा से रानीगंज से विधायक धीरज ओझा को कहना है कि, हमारे पार्टी के जिला विस्तारक को पार्टी कार्यालय से हिरासत में लेकर कोतवाली में बैठाया गया और यह बड़ी घटना है। बैठक में तय हुआ है कि, हम अपने मुख्यमंत्री को मामला अवगत कराएंगे। एसपी,सीओ,कोतवाल को हटाने के लिए मुख्यमंत्री से मिलेंगे और अपनी बात रखेंगे।

input- सुनील सोमवंशी

 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned