इंतजार खत्म, राजा भइया की नई पार्टी के लिये चुनाव आयोग में अप्लाई, सियासी पाट्रियों में मचा हड़कम्प

इंतजार खत्म, राजा भइया की नई पार्टी के लिये चुनाव आयोग में अप्लाई, सियासी पाट्रियों में मचा हड़कम्प

Mohd Rafatuddin Faridi | Publish: Oct, 10 2018 01:53:56 PM (IST) | Updated: Oct, 10 2018 01:53:57 PM (IST) Allahabad, Uttar Pradesh, India

राजा भइया के मास्अर मैन कहे जाने वाले केएन ओझा चुनाव आयोग में कागजी कार्रवाई का संभाल रहे हैं जिम्मा।

सुनील सोमवंशी

प्रतापगढ़. यूपी की सियासत में अपना एक अलग मकाम रखने वाले राजा भइया नया सियासी धमाका करने जा रहे हैं। शिवपाल यादव की राह पर चलते हुए राजा भइया नयी पार्टी बना रहे हैं। सूत्रों की मानें तो नई पार्टी के लिये उन के सबसे खास और मास्टर मैन कहे जाने वाले केएन ओझा दिल्ली में डेरा डाले हुए हैं और चुनाव आयोग में पार्टी के रजिस्ट्रेशन से लेकर नाम तक और कागजी कार्यवाही का पूरा जिम्मा संभाल रहे हैं। बुधवार को नई पार्टी के लिये राजा भइया का एफिडेविट भी जमा किया जाना है। राजा के नया राजनीतिक दल बनाने की अटकलें काफी समय से लगायी जा रही हैं।

 

गौरतलब हो कि यूपी विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी की बड़ी हार के बाद राजा भइया धीरे-धीरे अखिलेश और सपा से दूर होते चले गए। कई बार मंचों पर वह योगी आदित्यनाथ के साथ भी नजर आए। तब अटकलें लगायी जाने लगीं कि राजा भाजपा ज्वाइन करेंगे। पर ऐसा अब तक हुआ नहीं। इसके बाद राजा भइया के समर्थकों की ओरसे कई महीनों में यूपी, देश और विदेश में रहने वाले समर्थकों से उनकी राय मांगी थी। इसके लिये राजा भइया यूथ ब्रिगेड की वेबसाइट और सोशल साइट्स पर वोटिंग करायी गयी थी। दावा है कि इसमें कई राज्यों और विदेशों में बसे उनके करीब 20,00,000 समर्थकों ने इस कैंपेन में हिस्सा लिया। समर्थकों ने उन्हें नई पार्टी बनाने के लिये सबसे ज्यादा वोटिंग किया था।

 

राजा भइया के खास माने जाने वाले प्रतापगढ़ के प्रधान प्रधान संघ के अध्यक्ष पिंटू सिंह समेत राजा भइया यूथ ब्रिगेड के सदस्यों ने खूब मेहनत कर इस कैंपेन को चलाया और राजा भइया की पार्टी के लिये समर्थकों से वोटिंग करायी। 30 नवंबर को जब राजा भइया की राजनीति के 25 साल पूरे हो रहे हैं उसी समय लखनऊ में यूथ ब्रिगेड के कार्यकर्ता विशाल सम्मेलन आयोजित करने की तैयारी कर रहे हैं।

Ad Block is Banned