राजा भइया और शिवपाल सिंह यादव में हुई बात, दोनों की पार्टियों में होगा गठबंधन!

राजा भइया और शिवपाल सिंह यादव में हुई बात, दोनों की पार्टियों में होगा गठबंधन!

Rafatuddin Faridi | Publish: Oct, 13 2018 05:00:11 PM (IST) Allahabad, Uttar Pradesh, India

शिवपाल के बाद राजा भइया भी जा रहे हैं नई पार्टी बनाने।

प्रतापगढ़. राजा भइया यूपी की सियासत में बड़ा भूचाल लाने जा रहे हैं। समाजवादी पार्टी को झटका देते हुए समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के नाम से नई पार्टी बनाने वाले शिवपाल सिंह यादव के बाद अब राजा भइया भी नई पार्टी का ऐलान 30 नवंबर को करने वाले हैं। पर सियासी भूचाल इससे नहीं बल्कि उस खबर से आएगा, जो इसके बाद आयी है। खबर ये है कि शिवपाल सिंह यादव की पार्टी राजा भइया की पार्टी के साथ गठबंध्न कर सकती है। खुद शिवपाल सिंह यादव ने कहा है कि उन्होंने राजा भइया से बात की है। यह बात शिवपाल ने अपनी पार्टी बनाने के बाद पत्रिका को दिये एक्सक्लूजिव इंटरव्यू में कही है। अगर ऐसा हुआ तो शिवपाल के पिछड़े और राजा भइया के सवर्ण वोट मिलकर 2019 में सपा, बसपा, कांग्रेस और भाजपा के लिये बड़ी मुश्किल पैदा कर सकते हैं।

 

शिवपाल सिंह यादव जहां समाजवादी पार्टी को नुकसान पहुंचाएंगे और अपने साथ यादव, मुस्लिम और अदर बैकवर्ड वोट लाएंगे वहीं राजा भइया नई पाटी बनाकर नाराज सवर्णों को साधेंगे। फिलहाल बीजेपी को छोड़कर सवर्ण वोटरों का कोई ठिकाना नहीं है और एससी एसटी एक्ट की वजह से सवर्ण बीजेपी से नाराज चल रहे हैं। ऐसे में सही समय पर राजा ने अपनी पार्टी बनाकर सवर्णों के सामने एक नया नेतृत्व पेश कर दिया है, जो 2019 में बीजेपी को नुकसान पहुंचाएगा।

 

ऐसे में शिवपाल सिंह यादव और राजा भइया को मिलाकर देखा जाए तो यह एक बड़ी ताकत बनकर यूपी में उभर रहा गठबंधन हो सकता है। सियासी जानकारों की मानें तो अगर ऐसा हुआ तो यह गठबंधन सपा-बसपा गठबंधन को टक्कर देने वाला होगा।

 

ऐसे में कहा ये भी जा रहा है कि यदि कांग्रेस ने इनके साथ मिल गयी तो यूपी में 2019 की राह बीजेपी और सपा-बसपा के लिये बेहद मुश्किल होगी। रही बात कांग्रेस की तो बिना किसी गठबंधन के कांग्रेस के लिये 2019 वैसे भी मुश्किल ही दिखायी दे रहा है।

 

चर्चा में है शिवपाल और राजा भइया की पार्टी

बताते चलें कि शिवपाल सिंह यादव ने समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के गठन के साथ ही समाजवादी पार्टी को तोड़ना शुरू कर दिया है। अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि शिवपाल ने जितने भी पदाधिकारी बनाए हैं सभी सपा छोड़कर उनके साथ आए हैं। इसके अलावा अभी कई और दिग्गज सपाइयों के शिवपाल के साथ जाने के संकेत भी मिल रहे हैं और अटकलें भी लगायी जा रही हैं। सियासी गलियारों में भी कई नाम तैर रहे हैं जिनके शिवपाल के साथ जाने की अटकलें हैं।

 

शिवपाल के धमाके के बाद अब राजा भइया ने भी धमाका कर दिया है। राजा ने नई पार्टी बनाने के लिये चुनाव आयोग में अप्लाई भी कर दिया है। उनके इस कदम से उनके समर्थकों में जबरदस्त उत्साह है। यहां तक कि उनके समर्थकों ने रजिस्ट्रेशन के पहले ही उनकी पार्टी का नाम जनसत्ता पार्टी रखकर उसे वायरल कर दिया। राजा भइया के पीआरओ को सामने आकर समर्थकों को बयान देना पड़ा कि उत्साहित होकर पहले ही नाम न रखें। अभी पार्टी की कागजी प्रक्रिया में है और रजिस्ट्रेशन के बाद ही नाम मिलेगा।

By Sunil Somvanshi

Ad Block is Banned