सांप्रदायिक बवाल के बाद प्रतापगढ़ में तनावपूर्ण शांति, जमे रहे सीओ

सांप्रदायिक बवाल के बाद प्रतापगढ़ में तनावपूर्ण शांति, जमे रहे सीओ

Ashish Shukla | Publish: Jan, 11 2018 11:31:38 PM (IST) Varanasi, Uttar Pradesh, India

गांव में तैनात है दो थानों की फोर्स

प्रतापगढ़. मजदूरी से इनकार करने पर दलितों की पिटाई और आगजनी के मामले में पुलिस ने छापेमारी कर बुधवार की देर रात दूसरे संप्रदाय के छह लोगों को हिरासत में ले लिया। पूछताछ के बाद पुलिस ने चार को संबंधित धाराओं में निरूद्ध कर जेल भेज दिया है। सीओ पट्टी रवि सिंह के नेतृत्व में छापा मारने वाली टीम में कोहंड़ौर एवं कंधई थाने के पुलिसकर्मी शामिल थे।

 


दूसरा पक्ष पहुंचा कप्तान के दरबार
पुलिस द्वारा की गई गिरफ्तारी की कार्रवाई से नाराज दूसरे पक्ष के लोग कप्तान के दरबार पहुंच गए। दूसरे पक्ष ने पुलिस अधीक्षक शगुन गौतम से मिलकर गिरफ्तार लोगों को निर्दोष बताया और उनको तत्काल रिहा करने की मांग की।

 


गांव में डटे रहे सीओ
गांव में तनाव को देखते हुए दो थानों की फ़ोर्स तैनात की गई है। सीओ पट्टी रवि सिंह पूरे दिन कोहंड़ौर एवं कंधई थाने की फोर्स के साथ तिवारी खुर्द गांव में जमे रहे। गांव पुलिस छावनी में तब्दील रहा। हर तरफ वर्दीधारी देख ग्रामीण थोड़ा असहज जरूर महसूस कर रहे थे, लेकिन दलित समुदाय से आनेवाले ग्रामीणों के चेहरे पर अपनी सुरक्षा को लेकर निश्चिंतता भी झलक रही थी। गौरतलब है कि बुधवार को मजदूरी से इनकार करने पर दबंग कहर बनकर टूट पड़े थे। दलितों की पिटाई करने के साथ ही घर फूंक डाला था। सभी के ऊपर पीड़ित पक्ष से मिले तहरीर के अनुसार विभिन्न धाराओ में मुकदमा दर्ज कर लिया था। तिवारी खुर्द गांव में मजदूरी ना करने पर दलित परिवार पर दर्जनों दबंगों का कहर टूटा था। दबंगों ने पहले महिला समेत चार लोगो को लाठी -डंडों से जमकर पीटने के बाद फायरिंग कर गांव में दहशत फैलाई थी। मामला दो संप्रदायों के बीच का होने के कारण पुलिस ने सक्रियता दिखाते हुए बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात कर दिया था।

 

 

Input By : Sunil Somvanshi

Ad Block is Banned