छात्रा के साथ हैवानियत: दो शिक्षिकाओं ने पहले जमकर पीटा, फिर प्राइवेट पार्ट में डाला पेंसिल

Sarveshwari Mishra

Publish: Nov, 12 2017 01:03:22 (IST) | Updated: Nov, 12 2017 02:05:05 (IST)

Varanasi, Uttar Pradesh, India
छात्रा के साथ हैवानियत: दो शिक्षिकाओं ने पहले जमकर पीटा, फिर प्राइवेट पार्ट में डाला पेंसिल

छात्रा को मिली गलती पर दो शिक्षिकाओं ने ऐसी दी सजा

प्रतापगढ़. यूपी के कई आवासीय विद्यालय में छात्राओं के उत्पीड़न की खबरें आती रही हैं, लेकिन पहली बार यूपी के प्रतापगढ़ में एक ऐसी शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई है जिसे जानकर रोंगटे खड़े हो जाएंगे। प्रतापगढ़ के कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय दो शिक्षिकाओं ने कक्षा सात में पढ़ने वाली बच्ची के साथ अमानवीय क्रूरता का व्यवहार किया छात्रा की गल्ती पर उसे इतनी कड़ी सजा दी गई कि छात्रा बुरी तरह घायल हो गई। छात्रा के परिजनों ने विद्यालय की दो शिक्षिकाओं के खिलाफ थाने में तहरीर देकर आरोप लगाया है कि बेटी की पिटाई के बाद उसके प्राइवेट पार्ट में पेंसिल डाल दी गई। मामला थाने पहुंचा तो हड़कंप मच गया, आलाधिकारियों को तत्काल सूचना देते हुए शिक्षा विभाग के अधिकारियों को भी मामले से अवगत कराया गया है।

 


बतादेंकि प्रतापगढ़ के फतनपुर रामापुर कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में कक्षा सात में पढ़ने वाली छात्रा के साथ परिजन फतनपुर थाने पहुंचे और तहरीर देते हुए बताया कि विद्यालय की दो शिक्षिकाओं ने पहले उसे जमकर पीटा फिर उसके प्राइवेट पार्ट में पेंसिल डाल दी, जिससे वह घायल हो गई। आक्रोशित परिजनों ने स्कूल के बाहर हंगामा करते हुए कार्रवाई की मांग की तो पुलिस ने जांच पड़ताल शुरू कर दी है।

 

 

कुछ देर पहले बीएसए व उनकी टीम भी जांच पड़ताल के लिए विद्यालय पहुंच गई है। हालांकि विद्यालय की वार्डेन सुमन सिंह ने बताया कि आरोप पूरी तरह से गलत हैं। छात्रा ने कई बच्चियों के साथ गलत हरकत की थी। इसकी शिकायत पर उसे दण्डित किया गया, छात्रा की मां को बुलाकर जानकारी दी गई थी। जिसे अब गलत तरीके से तूल दिया जा रहा है। वहीं आरोपी शिक्षिकाओं का कहना है कि कुछ छात्राएं आपस में गलत हरकत कर रही थी। जब उनसे कड़ाई से पूछताछ की गई और फटकार लगाई गई तो आरोप लगाने वाली बच्ची का नाम दूसरी छात्राओं ने बताया। इस पर उसे कड़ाई से डांट लगाई गई, जिसे उसने गलत ढ़ंग से पेश किया है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned