इसरार हुसैन की हत्या मामला: डीएम एसपी के कहने पर जाम हुआ समाप्त

इसरार हुसैन की हत्या मामला: डीएम एसपी के कहने पर जाम हुआ समाप्त

Sarweshwari Mishra | Publish: Apr, 14 2018 12:00:02 PM (IST) | Updated: Apr, 14 2018 09:15:27 PM (IST) Varanasi, Uttar Pradesh, India

जिले में डीएम एसपी के कहने पर जाम को समाप्त किया गया।

प्रतापगढ़. जनपद के लालगंज कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत डीह मेहंदी गांव की ग्राम प्रधान के जेठ और व्यवसायी इसरार अहमद की हत्या से सन्न लोगों का आक्रोश शनिवार को भड़क उठा। आक्रोशित परिजनों एवं ग्रामीणों ने गांव से लेकर बाबूगंज बाजार तक जमकर तांडव मचाया। पड़ोसी गांव के ही निवासी एक आरोपित का घर फूंक दिया, वहीं बाबूगंज बाजार में भी जमकर तोड़फोड़ एवं आगजनी की। घंटों बाद मौके पर पहुंचे फायर ब्रिगेड के दस्ते ने आग पर काबू पाया।

जानकारी के अनुसार शुक्रवार की देर शाम हत्या के बाद से ही ग्रामीणों में आक्रोश था। शनिवार की सुबह आक्रोश फूट पड़ा और ग्रामीणों ने मृतक के परिजनों के साथ पड़ोसी गांव खटवारा निवासी एक आरोपित के घर धावा बोल दिया। भीड़ ने पहले घर में घुसकर तोड़फोड़ की और सारा इधर-उधर फेंक दिया। इसके बाद आग लगा दी। जिससे घर का सारा सामान और दो मंजिला पक्का मकान जल गया। ग्रामीणों ने इसकी सूचना तत्काल पुलिस और फायर ब्रिगेड को दी, लेकिन घंटों बाद तक ना तो पुलिस पहुंची और ना ही फायर ब्रिगेड। घटना के बाद गांव में तनाव व्याप्त हो गया। आगजनी की घटना से गांव में अफरातफरी का माहौल था। वहीं, दूसरी तरफ बाबूगंज बाजार में भी आक्रोशित लोगों ने तोड़फोड़ एवं आगजनी की। गौरतलब है कि डीह मेहंदी गांव की प्रधान रुबीना बानो के जेठ इसरार हुसैन शुक्रवार की देर शाम हत्या के बाद परिजनों ने देर रात खटवारा गांव निवासी ताहिर समेत चार नामजद एवं छह अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था।


शव रखकर लगाया जाम

बाजार में शव पोस्टमार्टम के बाद पहुंंचा तो एक बार फिर आक्रोश भड़क उठा। महिलाओं सहित सैकड़ों लोगों ने शव को सड़क पर रखकर जाम लगा दिया। लोग शस्त्र लाइसेंस और 25 लाख रूपये मुआवजा देने की मांग कर रहे थे। इस दौरान शासन-प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी होती रही। तमाम वाहन जाम के चलते फंसे रहे। उपद्रवियों ने बाजार की दुकानें भी बंद करा दीं। इस दौरान मृतक के भाई और पुलिस अधिकारियों से तीखी-नोंकझोंक भी हुई।


जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक ने समाप्त कराया जाम

ग्रामीणों के शव रखकर सड़क जाम एवं बवाल करने की खबर से प्रशासनिक अमले के हाथ-पांव फूलने लगे। जिलाधिकारी शंभु कुमार एवं पुलिस अधीक्षक शिवराज मीणा मौके पर पहुंच गए। आला अधिकारियों ने परिजनों से बात की और न्यायोचित कार्रवाई के साथ प्रशासनिक स्तर से हर संभव सहयोग का आश्वासन देकर जाम समाप्त कराया।

 

By: Sunil Somvanshi

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned