देह व्यापार और यौन उत्पीड़न में वांछित कांग्रेस की महिला नेता साथी के गिरफ्तार

देह व्यापार और यौन उत्पीड़न में वांछित कांग्रेस की महिला नेता साथी के गिरफ्तार

Rafatuddin Faridi | Publish: Sep, 02 2018 07:04:01 PM (IST) Allahabad, Uttar Pradesh, India

पीड़ित परिवार की याचिका पर कोर्ट के आदेश के बाद मुंबई पुलिस ने प्रतापगढ़ से किया गिरफ्तार।

प्रतापगढ़. मुंबई पुलिस की टीम ने प्रतापगढ़ से कांग्रेस की महिला नेता को गिरफ्तार कर लिया। करनपुर की रहने वाली महिला नेता सरोजा कश्यप को टीम ने उनके साथी के अरेस्ट कर लिया। उन पर यौन उत्पीड़न व देह व्यापार का मामला दिल्ली में दर्ज है। पीड़ित महिला ने कांग्रेस नेत्री सरोजा व महिला भाजपा नेता पर दिल्ली में मुकदमा दर्ज करया था। इस मामले में एक तांत्रिक भी वांछित है। भाजपा नेत्री और तांत्रिक अभी फरार चल रहे हैं। पकड़ी गयी सरोजा के खिलाफ मुंबई में भी यौन उत्पीड़न और जबरन गर्भपात करवाने का मुकदमा दर्ज है। पकड़ा गया साथी गैंगरेप व लड़की भगाने का भी आरोपी है।

 

आरोप है कि चार साल पहले नगर कोतवाली के करनपुर इलाके की लड़की को कांग्रेस नेत्री अपने तांत्रिक साथी के साथ नौकरी दिलाने के बहाने मुम्बई ले गयी थी। वहां सरोजा कश्यप उस लड़की से जबरन जिस्म फरोशी का धंधा करवाने लगी। ये बात जब लड़की के परिजनों को पता चली तो उन्होंने मुंबई जाकर इनसे मिलने की कोशिश की। पर इस दौरान लड़की गर्भवती हो चुकी थी। जैसे ही इस बात की जानकारी कांग्रेस नेत्री को मिली उसी वक्त उसने लड़की का प्राइवेट अस्पताल में गर्भपात करवा दिया।

 

जब परिजनों को पूरे घटनाक्रम की जानकारी मिली तो पीड़ित लड़की के साथ जाकर मुम्बई में एफआईआर दर्ज करवा दिया। पर इस एफआईआर दर्ज होने के बावजूद कोई कार्यवाही नहीं हो सकी। पीड़ित के परिजनों को लगातार धमकी भी दी जा रही थी। इसी को देखते हुए पीड़ित के परिजनों ने मुंबई में कोर्ट का सहारा लिया तब जाकर न्यायालय के आदेशानुसार हफ्ते भर पहले से ही मुम्बई पुलिस ने प्रतापगढ़ आकर डेरा डाल दिया। रविवार को जैसे ही कांग्रेस नेत्री अपने घर से निकली उसी समय पहले से मौजूद सिविल ड्रेस में तैयार पुलिस की जवान ने कांग्रेस नेत्री को गिरफ्तार कर लिया।

 

गिरफ्तार करने के बाद उन्हें प्रतापगढ़ नगर कोतवाली लेकर गए। वहां लिखाढ़ी होने के बाद मुंबई पुलिस उन्हें और साथी को लेकर मुंबई के लिये रवाना हो गयी। इस संबंध में जब पुलिस के आलाधिकारियों से बात करने की कोशिश की गयी तो उन्होंने कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया।

By Sunil Somvanshi

Ad Block is Banned