scriptरेल यात्रियों के लिए खुशखबरी, 18 करोड़ से ज्यादा लोगों को मिलेगी ये बड़ी सुविधा | Indian Railways Good news for passengers 2500 new general coaches for 18 crore people | Patrika News
प्रयागराज

रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी, 18 करोड़ से ज्यादा लोगों को मिलेगी ये बड़ी सुविधा

Indian Railways: ट्रेन में आम जनता की परेशानियों को देखते हुए भारतीय रेलवे ने बड़ा कदम लिया है। इसके तहत रेलवे ने 2500 जनरल कोच को बनाने का फैसला लिया है।

प्रयागराजJun 22, 2024 / 12:24 pm

Sanjana Singh

Indian Railways

Indian Railways

Indian Railways: केंद्र सरकार मेल और एक्सप्रेस ट्रेन में सामान्य श्रेणी कोच (जनरल कोच) की संख्या बढ़ाने जा रही है। इसके तहत 2500 सामान्य कोच का अतिरिक्त उत्पादन करने का फैसला किया गया है। इस फैसले से आम जनता को राहत मिलेगी। इससे सामान्य बोगियों में सालाना अतिरिक्त 18 करोड़ से अधिक यात्री सफर कर सकेंगे।
प्रयागराज मंडल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सोशल मीडिया पर स्लीपर और सामान्य श्रेणी कोच में भारी भीड़ के वीडियो वायरल होने से रेलवे की काफी किरकिरी हो रही थी। इसको देखते हुए रेलवे बोर्ड ने मंगलवार की बैठक में 2500 सामान्य श्रेणी के अतिरिक्त कोच उत्पादन का फैसला किया है। कोच रेलवे के प्रति वर्ष कोच उत्पादन प्रोग्राम के अतिरिक्त होंगे।
अधिकारी ने बताया कि मेल-एक्सप्रेस और सुपरफास्ट ट्रेन में सामान्य कोच आमतौर पर दो से चार के बीच में होते हैं। योजना के मुताबिक जिन ट्रेन में दो कोच हैं, उनमें इनकी संख्या चार की जाएगी। जिन में कोई सामान्य श्रेणी के कोच नहीं हैं, उनमें दो कोच लगाए जाएंगे।

मेल में 1250 और एक्सप्रेस ट्रेन में 2500 कोच लगेंगे

इस प्रकार दो कोच के हिसाब से 1250 मेल और एक्सप्रेस ट्रेन में 2500 कोच को लगया जाएंगे। कोच की डिजाइन 150 से 200 यात्री क्षमता के अनुसार होगी। इससे प्रतिदिन 2500 कोच में पांच लाख अतिरिक्त आम यात्री सफर कर सकेंगे। यानी मेल-एक्सप्रेस ट्रेन की इन सामान्य कोच में अतिरिक्त 18 करोड़ 25 लाख से अधिक यात्री ले जाने की सालाना क्षमता हो जाएगी। यह सभी कोच चालू वित्तीय वर्ष में बनकर तैयार हो जाएंगे। 1377 स्लीपर श्रेणी के कोच भी बनेंगे।
यह भी पढ़ें

खुले में शराब पीना लोगों को पड़ा भारी, Operation Street Safe के तहत 497 लोगों के खिलाफ कार्रवाई

एक दशक में कोच उत्पादन में आई तेजी

रेलवे ने पिछले एक दशक में कोच उत्पादन क्षमता में तेजी से वृद्धि की है। वित्तीय वर्ष में 2014-15 में 555 एलएचबी (कुल 3045 कोच) कोच का उत्पादन किया गया था। जबकि 2023-24 में 7, 151 कोच का उत्पादन करने का लक्ष्य रखा है। इस प्रकार चालू वित्तीय वर्ष 2024-25 में 8692 कोच उत्पादन किया जाएगा। इसमें 50 अमृत भारत ट्रेन (पुल- पुश तकनीक) के लिए एसी-नॉन एसी कोच बनेंगे। वंदे भारत ट्रेन के लिए 1600 कोच का उत्पादन किया जाएगा।

Hindi News/ Prayagraj / रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी, 18 करोड़ से ज्यादा लोगों को मिलेगी ये बड़ी सुविधा

ट्रेंडिंग वीडियो