कानपुर कांड को लेकर रायबरेली के एक शिक्षक ने सोशल मीडिया पर किया यह पोस्ट, फिर मचा बवाल

कानपुर कांड को लेकर रायबरेली के एक शिक्षक ने सोशल मीडिया पर किया यह पोस्ट, फिर मचा बवाल

 

By: Madhav Singh

Published: 07 Jul 2020, 11:06 PM IST

रायबरेली . खीरों थाना क्षेत्र खीरों के एक सरकारी अध्यापक ने चौबेपुर कानपुर में बीते दिनों विकास दुबे व उसके साथियों द्वारा पुलिस कर्मियों पर किये गए हमले में पुलिस के कई जवान व अफसर शहीद हो गए। जिसके बाद शासन प्रशासन द्वारा विकास दुबे के विरुद्ध की गई कार्यवाही और मकान गिराने की घटना के बाद खीरों क्षेत्र के एक प्राथमिक विद्यालय में तैनात एक शिक्षक ने इसे गैर क़ानूनी बताते हुए फेसबुक में कई पोस्ट शेयर किया । जिसका फॉलोवर्स ने विरोध किया ।

कानपुर कांड को लेकर रायबरेली के एक शिक्षक ने सोशल मीडिया पर किया यह पोस्ट

इस मामले पर जब प्रशासन को जानकारी हुई तो तो शिक्षक के साथियों ने भी इस पर काफी नाराजगी जताई और प्रशासन को सूचना भी दी, लेकिन तब तक सोशल मीडिया पर यह खबर काफी वायरल हो चुकी थी। इसको लेकर शिक्षक ने अपनी पोस्ट भी डिलीट कर दी थी। इस दुःसाहस भरी गतिविधि से समाज मे नकारात्मकता बढ़ने,पुलिस कर्मियों का हतोत्साहन तो हुआ ही साथ शहीद परिवारों में भी रोष व्याप्त हो सकता है।देश समाज की सुरक्षा में प्राणों की आहुति देकर अपना सर्वस्य निछावर करने वालो को न्याय दिलाने समाज का जिम्मेदार स्तंभ कैसी अवधारणा रखता है।उसकी नियति में खोंट है तो उसके अनुशरण करने वाला छात्र रूपी भविष्य क्या सुरक्षित है।अब देखना है क्या ऐसे शिक्षकों पर शासन कार्यवायी करेगा या अभिव्यक्ति की आजादी के नाम पर खाना पूर्ति होती है।

रायबरेली बेसिक शिक्षा अधिकारी आन्नद प्रकाश शर्मा ने बताया

बेसिक शिक्षा अधिकारी आन्नद प्रकाश शर्मा ने कहा कि यह प्रकरण उनके संज्ञान में आया है। शिक्षक को शासन और प्रशासन के विरुद्ध किसी भी प्रकार की पोस्ट या टिप्पणी करना गलत है। साथ ही यह कर्मचारी आचरण नियमावली का उल्लंघन है। अगर किसी अध्यापक ने ऐसा किया है तो विभागीय कार्रवाई की जायेगी।

Show More
Madhav Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned