आचार्य महाबीर प्रसाद द्विवेदी राष्ट्रीय स्मारक समिति के संयोजन में एफजी कालेज सभागार में हुआ आचार्य स्मृति दिवस समारोह

आचार्य महाबीर प्रसाद द्विवेदी राष्ट्रीय स्मारक समिति के संयोजन में एफजी कालेज सभागार में हुआ आचार्य स्मृति दिवस समारोह

 

By: Madhav Singh

Published: 22 Nov 2020, 10:06 PM IST

रायबरेली . आचार्य स्मृति दिवस के सम्मान समारोह सत्र में सुप्रसिद्ध विभूतियों का सम्मान एवं नागरिक अभिनंदन किया गया। उनके परिचय के साथ विभूतियों ने अपने विचार भी साझा किए। वर्ष 2019 का सम्मान पत्र सुश्री ऐश्वर्या सिन्हा को दिया गया। एसपी श्लोक कुमार ने सभी विभूतियों को प्रतीक चिन्ह और सम्मान पत्र प्रदान किए। विशेष प्रतीक चिन्ह और सम्मान पत्र समाजसेवी मुकेश बहादुर सिंह ने प्रदान किए।

एफजी कालेज सभागार में हुआ आचार्य स्मृति दिवस समारोह

हिन्दी साहित्य के युग पुरुष आचार्य महाबीर प्रसाद द्विवेदी की स्मृति में आचार्य महाबीर प्रसाद द्विवेदी राष्ट्रीय स्मारक समिति के संयोजन में आचार्य स्मृति दिवस का आयोजन हुआ। शनिवार को फीरोज गांधी कालेज के सभागार में आयोजित इस भव्य कार्यक्रम में विभिन्न क्षेत्रों में ख्यातिप्राप्त विभूतियों का सम्मान और नागरिक अभिनंदन हुआ। विभूतियों ने समारोह आचार्य महाबीर प्रसाद द्विवेदी की साहित्य साधना को अपने संबोधन में रेखांकित किया। विभूतियों और अतिथियों ने आचार्य पथ स्मारिका, कहानी संग्रह आकाश में कोरोना घना है, 40 साल बाद पुन: प्रकाशित की गई पत्रिका सरस्वती का विमोचन भी किया। संचालन आंचल मिश्रा अवस्थी ने किया। इससे पूर्व कार्यक्रम का शुभारंभ पर सभी अतिथियों ने मां सरस्वती और आचार्य के चित्र पर दीप जलाए और पुष्प माला चढ़ाई। अध्यक्ष विनोद शुक्ल ने समिति की रूपरेखा प्रस्तुत की।

सरस्वती के संपादक को डॉ. राम मनोहर त्रिपाठी लोक सेवा सम्मान

40 वर्ष बाद पुन: प्रकाशित हुई सरस्वती के संपादक प्रोफेसर देवेंद्र शुक्ला एवं सहायक संपादक अनुपम परिहार को डॉ. राम मनोहर त्रिपाठी लोक सेवा सम्मान नवाजा गया। राजीव भार्गव ने संपादकगणों का परिचय प्रस्तुत किया। सुनील मिश्र, करुणाशंकर मिश्र और राजेश वर्मा ने सहयोग प्रदान किया।

Madhav Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned