देश की सेना को पसंद आई भाजपा तो राज्य सिविल कर्मचारियों की पहली पसंद रही कांग्रेस

Madhav Singh | Updated: 27 May 2019, 07:10:34 PM (IST) Raebareli, Raebareli, Uttar Pradesh, India

देश की सेना को पसंद आई भाजपा तो राज्य सिविल कर्मचारियों की पहली पसंद रही कांग्रेस

 

सेना और कर्मचारियों ने क्षेत्रीय पार्टियों को भी दिया अपना थोड़ा-थोड़ा मत

रायबरेली . लोकसभा चुनाव होने के बाद जब मतगणना हुई तो उसमें पोस्टल बैलट पेपर में देश की फौज के लोंगो ने एवं केंद्रीय बलों ने पहली अपनी पसंद भारतीय जनता पार्टी को माना है। उसका कारण है देश के स्वाभिमान के लिए जो लड़ाई भाजपा लड़ रही है वह देश के लिए काफी हितकारी है । ऐसा ही रायबरेली में जब मतगणना का रिजल्टआया तो उसमें यह नतीजे निकल के सामने आया । पोस्टल बैलट पेपर में भाजपा को 730 मतों की मिली विजय में सेना की महती भूमिका रही । सेना ने तो दिल खोलकर भाजपा पर मतों की वर्षा की लेकिन राज्य व केंद्र सरकार के कर्मचारियों की पसंद कांग्रेस ही रही । यही नहीं कर्मचारियों ने प्रसपा के साथ अन्य प्रत्याशियों को मत देकर साफ कर दिया कि कर्मचारियों की पसंद में वो भी है।

 

देश की सेना को पसंद आई भाजपा तो राज्य सिविल कर्मचारियों की पहली पसंद रही कांग्रेस

 

 

पोस्टल बैलट में इस बार सेना के जवानों के लिए 4346 बैलट भेजे गए थे। जिसमें सेना के जवानों ने मतगणना के समय तक 2692 मत वापस भेजें थे। जिसमें 1606 मत सेना के जवानों ने भाजपा को दिए थे । जबकि 617 मत कांग्रेस प्रत्याशी को मिले थे । इसके साथ ही सेना के जवानों ने अशोक प्रताप मौर्य को 4 मत, किरन चौधरी को 15, राम नारायन को दो, प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी राम सिंह यादव को 19, रामेश्वर लोधी को दो, सुनील कुमार को एक होरीलाल को एक प्रमेंद्र कुमार को एक, प्रमोद कुरील को तीन, विजय बहादुर को दो, सुरेंद्र बहादुर सिंह को 6 मत दिए थे ।जबकि सेना के जवानों के 402 मत निरस्त भी हुए हैं । जबकि कर्मचारियों ने भाजपा को पूरी तरह से नजरअंदाज किया है । कर्मचारियों की ओर से कुल 1009 मत डाले गए थे। जिसमें भाजपा को महज 295 व कांग्रेस को 614 मत मिले थे। इसके बाद प्रगतिशील समाजवादी पार्टी प्रत्याशी को सबसे ज्यादा मत मिले थे। कर्मचारियों ने 8 प्रत्याशियों को छोड़कर अन्य सभी को कुछ ना कुछ मत जरूर दे दिया है ।कर्मचारियों के भी 64 मत निरस्त हुए हैं।

 

सेना और कर्मचारियों ने क्षेत्रीय पार्टियों को भी दिया अपना थोड़ा-थोड़ा मत

 

खास बात यह है रही कि 18 कर्मचारियों ने 15 प्रत्याशियों में किसी पर भरोसा नहीं जताया । जबकि सेना के 9 वोटरों ने भी नोटा पर विश्वास जताया है। इस तरह पोस्टल बैलट में भाजपा का परचम फहराया । भाजपा को कुल 1909, कांग्रेस को 1231, अशोक को 10, किरण चौधरी को 22, रामनारायन को 2, राम सिंह यादव को 23, रामेश्वर लोधी को 2, सुनील कुमार को 1 होरीलाल को 1, प्रमेंद्र कुमार को 1, प्रमोद कुरील को 5, विजय बहादुर सिंह को 2, सुरेंद्र बहादुर सिंह को 7 मत मिले । जबकि 466 मत निरस्त हुए व 27 लोगों ने नोटा का प्रयोग किया।

 

 

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned