डीएम व एसपी ने स्वयं सहायता समूह की महिलाओं किया प्रेरित

डीएम व एसपी ने स्वयं सहायता समूह की महिलाओं किया प्रेरित

Madhav Singh | Updated: 17 Jul 2019, 08:59:54 PM (IST) Raebareli, Raebareli, Uttar Pradesh, India

डीएम व एसपी ने स्वयं सहायता समूह की महिलाओं किया प्रेरित

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन की महिला स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को दिया स्वरोजगार सम्बन्धी प्रशिक्षण

रायबरेली . जिलाधिकारी नेहा शर्मा ने ऑल बैंक ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान में निरीक्षण के दौरान सहायता समूह की महिलाओं के लिए चल रहे सिलाई सम्बन्धी प्रशिक्षण जिसमें प्राथमिक विद्यालयों की स्कूल ड्रेस एवं कपड़ा फोल्डर का प्रशिक्षण को देखा तथा समूह की महिलाओं को प्रोत्साहित भी किया। उन्होंने सभी महिला सहभागियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि स्वरोजगार अपनाकर मन व लगन, मेहनत के साथ कार्य कर आत्मनिर्भर बनाने के लिये ज्यादा से ज्यादा प्रेरित किया जाना चाहिये।


डीएम व एसपी ने स्वयं सहायता समूह की महिलाओं किया प्रेरित



जिलाधिकारी ने महिला स्वयं सहायता समूहों को स्वालम्बी एवं सशक्त बनाने की दिशा में आवश्वस्त किया कि स्वयं सहायता समूहों द्वारा जो उत्पाद तैयार किये जायेगें उनके लिए बाजार उपलब्ध करायें जाने का पूरा प्रयास किया जायेगा। महिलाओं को यह भी आवश्वस्त किया कि सरकारी कार्यालयों में प्रयोग किये जा रहे कपड़ा फोल्डर की आपूर्ति स्वयं सहायता समूहों से ली जायेगी जो प्लास्टिक फोल्डर का अच्छा विकल्प होगा तथा मुख्यमंत्री शासन की मंशा भी पूर्ण होगी साथ ही प्राथमिक विद्यालयों में यूनीफार्म की सिलाई एवं सप्लाई का कार्य भी समूहों को दिया जायेगा। जिलाधिकारी ने स्वयं सहायता समूहों को स्वालम्बी एवं सशक्त बनाने की दिशा में कार्य प्रारम्भ कर दिया है। अन्य सरकारी आपूर्ति से जोड़नें हेतु कार्यो को चिन्हीकरण करने हेतु परियोजना निदेशक, जिला ग्राम्य विकास अभिकरण एवं जिला विकास अधिकारी को दिया। साथ ही जिलाधिकारी नेहा शर्मा एवं पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार सिंह द्वारा प्रशिक्षण प्राप्त कर रही महिलाओं को प्रमाण पत्र भी वितरित किया गया।

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन की महिला स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को दिया स्वरोजगार सम्बन्धी प्रशिक्षण

 

महिला जागरूकता कार्यक्रम के अन्तर्गत पुलिस अधीक्षक की उपस्थित में महिला थाना प्रभारी सतोष सिंह ने उपस्थित सभी महिलाओं को सुरक्षा एवं घरेलू हिंसा के बारे में जागरूक किया तथा यह भी बताया कि महिलाओं के उत्पीड़न एवं छेड़खानी के सम्बन्ध में यदि कोई विषम स्थिति उत्पन्न होती है तो सरकार द्वारा जरी हेल्प लाइन नम्बरों का प्रयोग करें अथवा महिला थानें में आकर मुझे अवगत करायें जिससे उनकी समस्याओं का निराकरण किया जा सके। इस सम्बन्ध में पुलिस अधीक्षक ने भी महिलाओं को आश्वस्त किया गया कि सन्तोष सिंह द्वारा बतायी गयी बातों को ध्यान में रखे तथा आवश्यकता पड़ने पर मुझसे भी सम्पर्क किया जा सकता है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned