जवान ने तीन महीने पहले रचाई शादी, अब हुई हर्ष फायरिंग में मौत

Akansha Singh

Publish: Feb, 15 2018 11:58:23 AM (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India

रायबरेली. कानपुर में अचानक गोली लगने से हुई मौत मामले में मृतक जवान कुलदीप का शव बुधवार को रायबरेली पहुंचा तो पूरे इलाके में शोक की लहर छा गईं। घर वाले अपने लाडले के शव को देखकर यही कह रहे हैं कि बेटे को क्यों और किसने मारा। यू तो कुलदीप किसी लड़ाई में नहीं शहीद हुआ फिर भी वह किसी शहीद के सम्मान से कम नहीं है, दरअसल कुलदीप दीक्षित सेना में सिग्नल मैन के पद पर अम्बाला में तैनात था दोस्त की शादी के चलते छुट्टी पर अपने घर रायबरेली के सरेनी थाना क्षेत्र के पूरेमंगली गांव आया था। जहां से दोस्त की बारात में अपने दोस्तों के साथ 12 फरवरी को कानपुर बारात गया था जहां पीताम्बरा गेस्ट हाउस में कार्यक्रम के दौरान अपनी लाइसेंसी रायफल संजय मौर्या नाम के दोस्त को दी जिसके बाद अचानक फायर हो गयी और गोली कुलदीप के सीने में लग गयी आनन फानन में अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। मौके पर पहुंची पोलिस ने संजय मौर्य नाम के दोस्त को हिरासत में लेकर जांच पड़ताल शुरू कर दी।

 

कुलदीप की हत्या की गई या हादसे का शिकार हो गया फिलहाल कानपुर पोलिस जांच कर रही है बुधवार को मृतक जवान कुलदीप का शव आर्मी के जवान जब गांव लेकर पहुंचे तो कोहराम मच गया मां एक तरफ रो रही थी तो शव को पकड़ कर पत्नी रो रही थी वही कुलदीप का छोटा भाई और बहनों के साथ साथ पूरा गांव फफक पड़ा पूरे गांव में मातम है कुलदीप की शादी भी नवंबर 2017 में ही हुई थी अब परिवार में एक छोटा भाई और 3 बहने हैं।


कानपुर के श्यामनगर में सोमवार रात बरात में हर्ष फायरिंग के दौरान सेना के एक जवान को गोली लग गई। रायफल उसी जवान की थी और हर्ष फायरिंग उसका साथी कर रहा था। गोली लगने से जवान की मौत हो गई थी। जब जवान की मिटटी घर आई तो जवान के परिजनों को रो रो कर बुरा हाल था। इस बात की खबर गाँव के आसपास हुई तो लोंगो का भीड़ लगने लगी थी, सभी लोंगो के आंसू थमने का नाम भी ले रहे थे।

 

सरेनी के पूरे मंगली मजरे रालपुर निवासी कुलदीप दीक्षित (28) पुत्र राजेंद्र प्रसाद दीक्षित अंबाला छावनी में तैनात था। वह अपने दोस्त शिव प्रसाद की बरात में जाने की छुट्टी लेकर आया था। शिव प्रसाद भी सेना में है। सोमवार को उसकी बरात गौरी सतांव गांव से कानपुर के निकली। बरात में कुलदीप अपने साथ रालपुर के संजय मौर्या को भी ले गया था। कुलदीप की रायफल संजय के पास ही थी। बताते हैं कि बरात में डांस के दौरान संजय ही हर्ष फायरिंग कर रहा था। इसी बीच कुलदीप को गोली लग गई, जिसमें उसकी जान चली गई। रात में ही ये दुखद समाचार कुलदीप के घरवालों को दिया गया। परिवारीजन तुरंत कानपुर रवाना हो गए थे। बुधवार को परिवार के सदस्य मिट्टी लेकर वापस लौटे थे।

 

तीन महीने पहले हुई थी जवान की शादी
अक्टूबर 2010 में कुलदीप सेना में भर्ती हुआ था। 29 नवंबर 2017 को उनकी शादी हुई थी। शादी के बाद वह पहली छुट्टी पर अपने साथी सेना के जवान के विवाह समारोह में शरीक होने आया था। क्या पता था कि अपनी ही रायफल से निकली गोली उसकी जान ले लेगी। परिवार में माता-पिता के अलावा छोटा भाई वैभव व बहन आकांक्षा हैं। दो बहनों अर्चना और कल्पना की शादी हो चुकी है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned