ऑक्सीजन प्लांट तकनीकी खराबी के चलते अचानक से हुआ था बंद, सीएमएस ने दिया यह बयान

ऑक्सीजन प्लांट तकनीकी खराबी के चलते अचानक से हुआ था बंद, सीएमएस ने दिया यह बयान

By: Madhav Singh

Published: 19 Apr 2021, 03:02 PM IST

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क

रायबरेली. करोना की दूसरी लहर ने स्वास्थ्य सेवाओं की कलई खोल कर रख दी है। सरकार और उसके जिम्मेदार अधिकारियों के दावों की पोल खोल कर रख दी गई है। बड़े शहरों को तो छोड़ो इस बार छोटे शहर भी इस समस्या से दो चार हो रहे है।कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली के जिला अस्पताल में उस अफ़रा तफरी मच गई जब वहां का ऑक्सीजन प्लांट तकनीकी खराबी के चलते अचानक से बंद हो गया। ऑक्सीजन प्लान्ट के बंद होते ही जिला अस्पताल प्रशासन और स्वास्थ्य महकमे की सांस तक रुक गई। ऑक्सीजन सपोर्ट पर भर्ती मरीजों की हालत बिगड़ने लगी। आनन फ़ानन में जिला अस्पताल के वार्ड में भर्ती मरीजों को ऑक्सीजन सिलेंडर लगाकर उनकी हालत सामान्य करने की कोशिश की गई।अस्पताल प्रशासन प्लांट के अचानक बंद होने की खामी ढूढने में जुट गए।

ऑक्सीजन प्लांट तकनीकी खराबी के चलते अचानक से हुआ था बंद

कोरोना की दूसरी लहर के संक्रमण से जिले में कोरोना के सैकड़ो मरीजों के मिलने का सिलसिला लगातार जारी है। अधिकारियों द्वारा स्वास्थ्य महकमे को अपनी व्यवस्था दुरुस्त करने के निर्देश दिए जा रहे है। लेकिन जिला अस्पताल अपनी पुरानी कार्यशैली पर ही काम कर रहा है। जिला अस्पताल प्रशासन की सांस आज उस समय फूल गई जब अस्पताल के ऑक्सीजन प्लान्ट अचानक से बंद हो गया।कर्मचारियों ने मामले की जब जांच की तो जेनरेटर स्वीच जल जाने के चलते मरीजों की ऑक्सीजन सप्लाई प्रभावित हो रही थी। अस्पताल में ऑक्सीजन सप्लाई बंद होते ही भर्ती मरीजों की हालत बिगड़ने लगी जिससे अस्पताल प्रशासन में हड़कंप मच गया और आनन फानन में मरीजों को सिलेंडर के माध्यम से ऑक्सीजन दी गई। जिला अस्पताल में ऑक्सीजन प्लान्ट में आई खराबी के मामले में अस्पताल के सीएमएस का कहना है कि ऑक्सीजन प्लान्ट बंद नहीं हुवा केवल जेनरेटर स्वीच जल जाने की वजह से समस्या हुई थी। मरीजों को ऑक्सीजन सिलेंडर लगवा कर ऑक्सीजन सप्लाई सामान्य है।

Show More
Madhav Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned