रायबरेली में लापता हुये भाई बहन की हत्या का पुलिस ने किया खुलासा, एसपी ने घटना पर दिया यह बयान

रायबरेली में लापता हुये भाई बहन की हत्या का पुलिस ने किया खुलासा, एसपी ने घटना पर दिया यह बयान

By: Madhav Singh

Published: 05 Sep 2020, 09:32 PM IST

रायबरेली . लालगंज कोतवाली क्षेत्र के नरपतगंज चौकी के अंतर्गत आने वाले कुड़वल गांव में बीते 3 सितंबर को चहेरे भाई बहन का शव जंगल मे मिला था।जिसमे बच्ची 19 अगस्त को गायब हुई थी।वही बच्चा 2 सितंबर को गकनव के बाहर मैदान से गायब हुआ था।दोनों की हत्या का खुलासा करते हुए पुलिस अधीक्षक ने घटना को अंजाम देने के जुर्म में उनकी ही चचेरी बहन को गिरफ्तार कर लिया और उनके पास से वारदात में प्रयोग किया गया हंसिया भी बरामद कर लिया।आरोपी युवती को मानसिक रोगी बताया जा रहा है।खुलासा करने वाली टीम को एसपी ने 25 हजार का ईनाम देने की घोषणा की है।

भाई बहन की हत्या का पुलिस ने किया खुलासा

बताते चले कि जिले के लालगंज कोतवाली क्षेत्र के नरपतगंज चौकी के कुड़वल गांव में 3 सितंबर को गांव के करीब के कुईया जंगल से पुलिस ने एक बच्चे दीपक का शव बरामद किया था और उससे कुछ दूरी पर एक बच्ची का कंकाल भी मिला था।कंकाल की पहचान रूबी के तौर पर की गई जो मृतक दीपक की चचेरी बहन थी और 19 अगस्त को गायब हो गई थी।दो बच्चों के शव मिलने से हलकान रायबरेली पुलिस के उच्चाधिकारियों ने मामले के जल्द खुलासे के लिए एसओजी,महिला थाना व लालगंज पुलिस की टीमो को लगाया।सभी टीमो ने मिलकर मामले की गहनता से पड़ताल की तो शक की सुई।मृतकों की चचेरी बहन श्यामकली की ओर घूमी।टीमो ने जब श्यामकली से कड़ाई से पूछताछ की तो उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया।उसने बताया कि रूबी को वो अपने साथ जंगल मे ले गई और गला दबाकर उसकी हत्या कर उसका शव वही छिपा दिया।वही दीपक जब अपने साथियों के साथ मोबाइल देख रहा था तो उसे घास का ढेर उठाने के बहाने ले गई और उसका गला दबाकर मारने की कोशिश की लेकिन जब वो नही मरा तो अपने पास मौजूद हंसिये से उसपर वार कर उसकी हत्या कर शव को वही झाड़ियों में छिपा दिया।पुलिस ने आरोपी के पास से वारदात में इस्तेमाल हंसिया भी बरामद कर लिया।


पुलिस अधीक्षक स्वप्निल ममगई ने बताया

पुलिस अधीक्षक स्वप्निल ममगाई की माने तो आरोपी मानसिक रूप से बीमार है और उसका ईलाज़ भी घर वालो ने कराया था।वो अपने को असुरक्षित समझती थी।जिसके चलते उसने इस वारदात को अंजाम दिया।फिलहाल खुलासा करने वाली टीम को 25 हजार का नगद पुरुस्कार दिया जाएगा।

Show More
Madhav Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned