कांग्रेस से आई बड़ी खबर, प्रियंका गांधी ने यहां से चुनाव लड़ने की कही बात, मचा हड़कम्प

प्रियंका गांधी को लेकर आई बड़ी खबर...

रायबरेली. लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को धमाकेदार जीत दिलाने के लिए प्रियंका गांधी एड़ी-चोटी का जोर लगाए हुए हैं। इसी क्रम में आज वह अयोध्या में रहेंगी। वहां वह हनुमानगढ़ी पर मत्था टेकेंगी। लोकसभा चुनाव में प्रिंयका गांधी चुनाव लड़ेगी या नहीं इस पर भी लोगों की नजरें टिकी हुई हैं। इन सब के बीच गुरुवार को रायबरेली में प्रियंका ने मीडिया के सामने इशारों ही इशारों में कुछ ऐसा कह दिया जिससे एक बार फिर उनके चुनाव लड़ने और प्रधानमंत्री मोदी को चुनौती देने के कयास तेज हो गए हैं। दरअसल गुरुवार को प्रियंका गांधी अपनी मां सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली के दौरे पर थीं। इस दौरान पार्टी कार्यकर्ता उनसे इस सीट से चुनाव लड़ने की मांग कर रहे थे। इसी दौरान प्रियंका ने कहा 'वाराणसी से चुनाव लड़ूं क्या?'


सोनिया की जगह प्रियंका को चुनाव लड़ाने की मांग

रायबरेली में प्रियंका गांधी ने जिला मुख्यालय से लगभग छह किमी दूर एक गेस्ट हाउस में पार्टी बूथ कार्यकर्ताओं, ब्लॉक अध्यक्षों, ग्राम पंचायत और नगर पंचायत प्रमुखों को संबोधित किया। जहां कार्यकर्ताओं ने उनसे कहा कि क्यों न सोनिया गांधी के बजाय वही रायबरेली से चुनाव लड़ें। कार्यकर्ताओं के सवाल पर प्रियंका ने मुस्कुराते हुए जवाब दिया, "वाराणसी से क्यों नहीं?" साथ ही प्रियंका गांधी ने कहा कि उनकी मां और यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी तनावग्रस्त थी, जिस कारण रायबरेली दौरे पर नहीं आ सकीं।

अपने निर्वाचन क्षेत्र का काम देखेंगी सोनिया गांधी

प्रियंका गांधी ने यह भी कहा कि उन्होंने अपनी मां से कहा था कि वे चिंता न करें क्योंकि वह अपने निर्वाचन क्षेत्र का काम देखेंगी। यह कोई पहला मौका नहीं है जब प्रियंका ने चुनाव लड़ने की बात कही है। इससे पहले 27 मार्च को एक रैली को संबोधित करते हुए प्रियंका गांधी ने कहा था कि पार्टी यदि उनसे चुनाव लड़ने के लिए कहेगी तो वह इसके लिए तैयार हैं और यदि वह चुनाव नहीं भी लड़ीं तो पार्टी के लिए चुनाव प्रचार करती रहेंगी। बता दें कि राहुल गांधी और सोनिया गांधी पहले से ही चुनाव मैदान में हैं। सोनिया गांधी रायबरेली से चुनाव लड़ रही हैं, तो राहुल गांधी अमेठी से चुनाव लड़ेंगे।

प्रियंका कर रहीं 2022 का तैयारी

वहीं इससे पहले प्रियंका के इस बयान ने भी लोगों को चौंका दिया था जब उन्होंने पार्टी के एक कार्यकर्ता से पूछा, "क्या आप चुनाव की तैयारी कर रहे हैं? मैं 2019 की नहीं, बल्कि 2022 की बात कर रही हूं।"उनके इस बयान से प्रदेश के लिए कांग्रेस की योजना और प्रियंका को वहां लाने की वजह का संकेत मिलता है।

आकांक्षा सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned