जिंदा महिला को मुर्दा दिखाने व जमीन दूसरे के नाम करने पर कार्रवाई

जिंदा महिला को मुर्दा दिखाने व जमीन दूसरे के नाम करने पर कार्रवाई
Rae Bareli Sadar Tehsil,

Shatrudhan Gupta | Updated: 15 Dec 2017, 10:14:35 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

रायबरेली सदर तहसील में कुछ लेखपालों और ग्राम पंचायत अधिकारी मिली भगत से एक गरीब की जमीन में गलत तरीके से दूसरे के नाम जमीन करने का मामला आया है।

रायबरेली. रायबरेली सदर तहसील में कुछ लेखपालों और ग्राम पंचायत अधिकारी मिली भगत से एक गरीब की जमीन में गलत तरीके से दूसरे के नाम जमीन करने का मामला आया है। यह कोई पहला मामला नहीं है, इस तरह का जिले के अन्य तहसीलों में अधिकतर देखने को मिलता रहता है। कभी कोई दूसरे के नाम खेती करवा लेता हैतो अधिकारी ऐसे मामले में चुप्पी साधे रहते है, लेकिन इस बार कुछ ऐसे लोगों पर अचानक कार्रवाई हो जाने से षायद ऐसे मामले कुछ दिन के लिये रुक तो सकते हैं, लेकिन फिर वही ढाक के तीन पात जैसी कहावत साबित होगी।

रायबरेली सदर तहसील क्षेत्र के गोछारी गांव में जिंदा महिला को मुर्दा दिखाने के साथ ही चक माधवपुर गांव में नियमों के विपरीत जमीन दूसरे के नाम करने के मामले में दोषी पाए गए दोनों ही गांवों के लेखपालों को निलंबित कर दिया गया है। एसडीएम सदर एस सुधाकरन ने ग्राम पंचायत अधिकारी को भी निलंबित करने की संस्तुति करके सीडीओ को पत्र भेजा है। तहसील में तैनात रहे तत्कालीन व वर्तमान में रिटायर्ड कानूनगो के खिलाफ कारवाई डीएम के स्तर से होगी।

सदर तहसील क्षेत्र के गोझरी गांव में गंगादेई को मृतक दिखाकर उसकी जमीन उसके नाम कर दी गई थी। मामले की शिकायत होने के बाद जांच कराई गई तो लेखपाल और ग्राम पंचायत अधिकारी की मनमानी उजागर हो गई । ग्राम पंचायत अधिकारी ने फर्जी मृत्यु प्रमाण पत्र जारी कर दिया था। जांच के बाद एसडीएम सदर ने लेखपाल हरि नारायण तिवारी को निलंबित करते हुये ग्राम पंचायत अधिकारी को निलंबित करने की संस्तुति करके पत्र सीडीओ को भेजा है।

इसके अलावा नियमों को ताक पर रखकर चकमाधवपुर के लेखपाल सावन लाल मीणा ने साठगांठ करके जमीन दूसरे के नाम कर दी थी। यह मामला भी शिकायत की जांच के बाद पकड़ में आने के बाद लेखपाल को निलंबित कर दिया गया है। एसडीएम सदर एस सुधाकरन ने बताया कि तत्कालीन कानून गो के खिलाफ डीएम के स्तर से कार्रवाई की जाएगी। मामले की जांच अभी जारी है। कई और लोगों के खिलाफ जल्द ही कार्रवाई होगी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned