रायबरेली में फिरोज गांधी कॉलेज के छात्र-छात्राओं ने किया इस समस्या को लेकर प्रदर्शन

रायबरेली में फिरोज गांधी कॉलेज के छात्र-छात्राओं ने किया इस समस्या को लेकर प्रदर्शन

By: Madhav Singh

Updated: 22 Sep 2021, 10:01 AM IST

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क

रायबरेली. फिरोज गांधी कॉलेज के छात्र छात्राओं ने कानपुर विश्वविद्यालय द्वारा घोषित रिजल्ट को लेकर डीएम कार्यालय पर जमकर प्रदर्शन किया था। प्रदर्शन के समय एक छात्रा जिलाधिकारी कार्यालय के बाहर अचानक बेहोश हो गई थी । जिलाधिकारी ने छात्रों के इस संगठन को मिलने के लिए बुला रहे थे लेकिन छात्र इसके लिए तैयार नहीं थे। काफी समय के बाद आपस में बातचीत कर डीएम ने प्रदर्शन कर रहे छात्रों को कार्यालय के अंदर बुलाया और उनकी पूर्ण रूप से बात सुनी भी। उन्होंने कॉलेज के प्रिंसिपल को भी बुलाया और उनकी भी बात सुनी।उन्होंने छात्रों को आश्वासन दिया कि जल्द ही इस पूरे मामले पर परिणाम आपके सामने आएंगे। इस आश्वासन के बाद छात्र छात्राएं वापस लौट गए।

फिरोज गांधी कॉलेज के छात्र-छात्राओं ने किया प्रदर्शन

कानुपर विश्वविद्यालय द्वारा 11 सितंबर को घोषित किए गए परिणाम को लेकर छात्र असंतुष्ट चल रहे हैं। छात्रों का कहना है कि रिजल्ट में मनमानी से हम लोगों का भविष्य खतरे में है लेकिन विश्वविद्यालय कोई कदम ही नहीं उठा रहा है। इसके पहले भी हम लोग क्रइ बार धरना-प्रदर्शन कर चुके हैं लेकिन कोई का कार्रवाई ही नहीं हुई। इससे नाराज छात्र-छात्राएं आज फिर बड़ी संख्या में डीएम कार्यालय पर प्रदर्शन के लिए पहुंच गए।

छात्र-छात्राएं प्रदर्शन करते हुए डीएम को बाहर बुलाने की थी मांग

छात्र-छात्राएं प्रदर्शन करते हुए डीएम को बाहर बुलाने की मांग कर रहे थे। वह चाहते थे कि डीएम सामूहिक रूप से सबकी बात सुनें। डीएम ने संदेशा कहलवाया कि छात्रों का प्रतिनिधिमंडल कार्यालय के अंदर आकर पूरी बात बता दे। छात्र इसके लिए तैयार नहीं हुए। उमस भरी गर्मी में प्रदर्शन के बीच ही लालगंज से आई एक छात्रा बेहोश हो गई। इससे हड़कंप मच गया। इससे छात्रों में नाराजगी भी बढ़ गई।यह बात जब डीएम को पता चली तो उन्होने छात्रों को अंदर बुलवाकर पूरी बात सुनी। उन्होने कॉलेज के प्रिंसिपल बीडी मिश्रा को बुलवाया। प्रिंसिपल ने पूरी बात बताई। छात्रों का कहना है कि प्रिंसिपल ने तो अपना संस्तुति पत्र विवि को पहले ही भेज दिया है लेकिन विवि के अधिकारी ही कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं। हम लोगों का भविष्य अधर में लटका हुआ है। इस पर डीएम ने कानपुर विवि के वाइस चांसलर के पीए से भी फोन पर बात कर उन्हें पूरे प्रकरण से अवगत कराया। इसके बादडीएम ने छात्रों को आश्वस्त किया कि जल्द ही इसके ठोस परणिाम सामने आएंगे। जिलाधिकारी के आश्वासन के बाद छात्र वापस लौट गए।

Show More
Madhav Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned