NTPC का तीन इंजीनियरों की मौत से शहर को लगा सदमा

एनटीपीसी का तीन होनहार इंजीनियरों की मौत से एनटीपीसी रायबरेली को लगा सदमा

By: Ruchi Sharma

Published: 10 Nov 2017, 05:24 PM IST

 

रायबरेली. ऊंचाहार एनटीपीसी हादसे में कई श्रमिकों और तीन इंजीनियरों की घायल की सूचना आयी थी। जिसमें कई श्रमिकों की मौत भी हो गई थी और अभी दर्जनों घायल है, जिनका अलग-अलग अस्पतालों में इलाज चल रहा है। इस हादसे में तीन इंजीनियरों के घायल होने की सूचना थी, जिसमें अभी कुछ दिन पहले एक इंजीनियर की मौत दिल्ली में हो गयी थी। इसके बाद कल एक सूचना और आयी कि एक अतिरिक्त महाप्रबंधक पद पर तैनात प्रभात श्रीवास्तव 55 वर्षीय पुत्र बैजनाथ श्रीवास्तव की मौत हो गयी है। इससे एनटीपीसी ऊंचाहार के हर किसी को गम में में डुबो दिया है। ऊंचाहार में 23 सालों से रह रहे प्रभात एक प्रकार से यही के हो गए थे।

मूल रूप से बिहार के भोजपुर जिले के रहने वाले प्रभात ऊंचाहार में सन 1994 में आए थे। उस समय एनटीपीसी ने ऊंचाहार परियोजना का अधिग्रहण किया था। यहां पर उन्होंने मैनेजर के पद से नौकरी शुरू की और अब वह अतिरिक्त महाप्रबंधक थे । वह अक्सर ऊंचाहार के आसपास गांव में जाते थे। तथा एनटीपीसी के बारे में लोगों से बात करते थे। उनके एक बेटी और एक बेटे के पिता प्रभात जब हादसे में घायल हुए तो उनको पहले एनटीपीसी अस्पताल लाया गया और सबसे पहले उनको यहां से लखनऊ रेफर किया गया था। उनके साथ उनका परिवार भी यहां से चला गया था। तब से उनके सरकारी आवास पर ताला बंद है। जिस घर में अक्सर चहल पहल रहती थी। आज वहां मातम पूरी तरह से छाया हुआ है।

एनटीपीसी ने अपना एक होनहार अधिकारी खोया है। इसका दर्द एनटीपीसी के हर व्यक्ति को होगा।बूढ़े पिता ने बैजनाथ को बेटे की मौत से दिल और दिमाग से तोड़ दिया है। उनका कहना है कि मैं बूढ़ा हो गया था। पहले मुझे जाना था । लेकिन भगवान ने मेरे जवान बेटे को क्यो बुला लिया है। अभी तो मेरे बेटे ने अपने बच्चों को कोई खुशियां भी नही माना पाया था। वह दिन रात बस रोते रहते है।


महाप्रबंधक मुखर्जी राम ने दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल में भी तोड़ा दम

एनटीपीसी ऊंचाहार के अतिरिक्त महाप्रबंधक मुखर्जी राम ने दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल में दम तोड़ दिया। मृतकों की संख्या अब 43 हो गई है। अभी भी लखनऊ में 17 घायलों का इलाज चल रहा है।


रायबरेली उत्तर प्रदेश को हिला देने वाले रायबरेली के एनटीपीसी ऊंचाहार के हादसे में मृतकों की संख्या 43 पहुंच गई है। एक नवंबर के हादसे में यहां पर कार्यकरत श्रमिकों के साथ तीन अतिरिक्त महाप्रंबधक भी घायल हो गए थे। तीसरे अतिरिक्त महाप्रबंधक ने भी आज दम तोड़ दिया।

अतिरिक्त महाप्रबंधक मुखर्जी राम ने आज दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल में दम तोड़ दिया। इनको लेकर मृतकों की संख्या अब 43 हो गई है। अभी भी लखनऊ में 17 घायलों का इलाज चल रहा है। जिनमें आठ बेहद गंभीर है। दिल्ली के सफदरगंज सहित अन्य अस्पताल में 15 लोगों का इलाज चल रहा हैए जिसमें सात की हालत गंभीर बनी है।एनटीपीसी ऊंचाहार के हादसे में गंभीर रूप से घायल एजीएम मुखर्जी राम ने भी आज दम तोड़ दिया। अब तक यहां के तीन एजीएम समेत 43 की मौत हो गई है।

 

Ruchi Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned