योगी सरकार के दो आईएएस अधिकारियों ने कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका स्कूल की छात्राओं को गुरु बनकर दी यह बड़ी शिक्षा, सभी अधिकारी देखते रहे गये

Madhav Singh

Updated: 20 Oct 2019, 03:50:13 PM (IST)

Raebareli, Raebareli, Uttar Pradesh, India

रायबरेली . देश के प्रधानमंत्री ने जो वादे आम जनता से किया था उन वादों को पूरा करने के लिये उन्होने उत्तरप्रदेश की योगी सरकार को ऐसे ईमानदार अधिकारियों को जनता के द्धार तक जाने के लिये बोला है जो आम जनता की बात को समझ सके और उनकी समस्याओं को सुलझाने में मदद कर सकें। ऐसी ही एक आईएएस अधिकारी आराधना शुक्ला जो एक महिला भी है साथ ही वह रायबरेली की नोडल अधिकारी बनाई गई और उनका स्वभाव भी हर व्यक्ति से मिल रहा है जिससे वह सरकार की सभी योजनाओं को ज्यादातर महिलाओं और बालिकाओं से सम्बन्धित है उनको अपने अधिकारियों के द्धारा जनता तक जाकर सुन रही है और मौके पर सुलझाने की पूरी कोशिश कर रही है। जो अधिकारी या कर्मचारी गलत पाये जा रहे है उनको एक मौका सुधरने का भी दे रही है। उनके साथ रायबरेली की जिलाधिकारी नेहा शर्मा भी जिले की आम जनता से हर समय उनकी समस्याओं को सुलझाने की कोशिश करती है।

योगी सरकार के दो आईएएस अधिकारियों ने कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका स्कूल की छात्राओं को गुरु बनकर दी यह बड़ी शिक्षा

प्रमुख सचिव माध्यमिक शिक्षा आराधना शुक्ला ने निरीक्षण के दौरान समसपुर खालसा सड़क पर गाड़ी रूकवाकर स्कूल से अपने घर जा रही छात्राओं को रोक कर पठन-पाठन पारिवारिक जानकारी लेने के साथ ही उनकी समस्याओं को भी गोपनीय तरीके से पुछा। सभी छात्राओं को टाफियां देकर उनका मुंह मिठाकराकर उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की तथा छात्राओं के साथ फोटो खिचवाई। इसी दौरान प्रमुख सचिव का काफिला रोहनिया विकास खण्ड के उमरन गांव में बने कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय जाकर छात्राओं की कक्षाओं में जाकर छात्राओं से गणित, अग्रेजी, सामान्य ज्ञान के बारे में पूछा तथा छात्राओं से अंगे्रजी में प्रश्न भी किये। जिन छात्राओं ने प्रमुख सचिव के प्रश्न के उत्तर दिये उन छात्राओं की प्रशंसा की। छात्राओं से प्रतिदिन के रूटीन के कार्य व खाने आदि के बारे में विस्तार से जानकारी ली। प्रमुख सचिव छात्राओं के कमरों में जाकर छात्राओं से पूछ-ताछ करने पर छात्राओं द्वारा बताया गया कि एक तखत पर तीन छात्राए सोती है। जिस पर बीएसए द्वारा बताया गया कि छात्रा अलग बिस्तरों पर नही सोना चाहती है कमरा छोटा है जिस में तखत कम आते है इस पर प्रमुख सचिव ने बीएसए को निर्देश दिये कि वे छात्राओं को अलग से तखत व बिस्तर आदि दे ताकि वे ठीक से सो सके। निरीक्षण के दौरान प्रमुख सचिव ने कस्तूरबा गांधी आवासीय पूरे भवन का निरीक्षण किया तथा शौचालयों की साफ-सफाई को भी देखा। खाली जगहों पर वृक्षारोपण करने के निर्देश दिये। इस मौके पर जिलाधिकारी नेहा शर्मा व पुलिस अधीक्षक स्वप्निल ममगाई मुख्य विकास अधिकारी राकेश कुमार, बेसिक शिक्षा अधिकारी पीएन सिंह आदि अधिकारी उपस्थित थे।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned