रायबरेली में नसबन्दी कराने के बाद महिला की हुई मौत,परिवार के लोगों ने डाॅक्टरों पर लगाये गम्भीर आरोप

रायबरेली में नसबन्दी कराने के बाद महिला की हुई मौत,परिवार के लोगों ने डाॅक्टरों पर लगाये गम्भीर आरोप

रायबरेली . उत्तर प्रदेश की सरकार लगातार स्वास्थ्य विभाग को करोड़ों रुपये का बजट देती है, वह इसलिये की प्रदेश की जनता को अच्छी स्वास्थ्य सेवाओं मिल सके। लेकिन अब ऐसा नही देखने को मिल रहा है। जिले की स्वास्थ्य सेवाएं अधिकारियों की उदासीनता के कारण पटरी से उतर गई है।आये दिन मरीजो के साथ लापरवाही के मामले देखने को मिल रहे है। ताजा मामला सोमवार को देखने को मिला जब सरेनी के कांजीखेड़ा गांव की रहने वाली मरीज की जिला महिला अस्पताल में मौत हो गई। परिजनों का आरोप है कि 9 जनवरी को मृतका का सरेनी सीचसी में नसबंदी का ऑपरेशन किया गया था जिसके बाद उसकी हालत बिगड़ती गई और आज उसकी मौत हो गई।उसकी मौत का कारण सीएचसी सरेनी की लापरवाही करने का मामला बताया जा रहा है।

रायबरेली में नसबन्दी कराने के बाद महिला की हुई मौत

जानकारी के अनुसार जिले के सरेनी क्षेत्र के कांजीखेड़ा गांव के रहने वाले रमेश की पत्नी प्रेमावती को आशा बहू नसबंदी करवाने के लिए सीएचसी सरेनी 9 दिसम्बर को ले गई थी।जंहा मौजूद चिकित्सको ने उसकी नसबंदी की।उसके बाद से उसकी तबियत बिगड़ने लगी परिजनों ने इसकी सूचना चिकित्सक को दी तो उसने उन्हें घर पर ही रखने की सलाह दी।लेकिन परिजन उसकी खराब हालत देख उसे इलाज के लिए सीएचसी ले गए जंहा उसकी बिगड़ती हालत देख 12 दिसम्बर को उसे जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। परिजन उसे लेकर जिला महिला अस्पताल ले कर आये लेकिन उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई। मृतका के देवर अनुपम की माने तो चिकित्सको की लापरवाही के कारण ही उसकी मौत हुई है।

Show More
Madhav Singh
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned