महिला ने तहसील परिसर में अधेड़ पर बरसाई चप्पलें, तहशील परिसर के लोग बने रहे तमाशबीन

महिला ने तहसील परिसर में अधेड़ पर बरसाई चप्पलें, तहशील परिसर के लोग बने रहे तमाशबीन

By: Madhav Singh

Published: 22 Nov 2020, 07:07 PM IST

रायबरेली . जिले की महराजगंज तहसील परिसर में दोपहर उस समय हंगामा अचानक लगा जब एक महिला ने अपने दो लोंगो के साथ मिलकर दहेज उत्पीड़न के एक मामले में पंचायत करने आए अपने समधी को ही सरेआम चप्पलों से पीटना शुरू कर दिया, साथ ही उसके साथ आए युवकों ने लात घूंसो से जमकर पिटाई कर दी। पिटाई होने के बाद युवक घायल हो गया था जिसे बाद तहशील परिसर में खड़े कुछ तमाश बीन तहसील कर्मी और अधिवक्ता तथा अन्य लोगों ने पहुंचकर समधी को समधन व उसके साथी गुंडों के कब्जे से किसी तरह बचाया। महराजगंज कोतवाली के बगल स्थित तहसील परिसर में लगभग 15 मिनट तक यह तमाशा चलता रहा। बाद में पिटे हुए समधी ने थाने में जाकर पिटाई करने का शिकायती पत्र दिया था।

महिला ने तहसील परिसर में अधेड़ पर बरसाई चप्पलें

मामला कोतवाली क्षेत्र के गांव पूरे पलटगीर मजरे मोन का है, मामले में रमेश कुमार यादव शिवरतनगंज थाना क्षेत्र अमेठी के रहने वाले हैं। उन्होंने अपनी पुत्री शैल कुमारी की शादी विगत डेढ़ वर्ष पूर्व पल्ट गीर का पुरवा मजरे मोन के रहने वाले चंद्रशेखर के लड़के जितेंद्र कुमार के साथ की थी।रमेश कुमार यादव का आरोप है कि, दहेज में उसने लगभग छह लाख रुपए खर्च किए थे। बीती 8 जून 2019 को शादी हुई थी। यह भी आरोप है कि, ससुराल के लोग दहेज में कमी की बात कहते हुए 2 लाख नगद एवं एक कार मांग रहे थे। एक दिन उसके दामाद जितेंद्र कुमार और उसके घर वाली ने मिलकर उसकी बेटी की बेरहमी पूर्वक मरणासन्न हालात तक पिटाई की। रमेश कुमार को जब यह सूचना मिली तो वह अपनी पुत्री को घर ले आया। इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। इस मामले में उसने पुलिस को लिखित तहरीर भी दी थी, लेकिन प्रति पक्षी गणों के दबाव में कोई कार्यवाही नहीं हुई। इसके बाद मामला पंचायत के माध्यम से निपटाने की बात चली।


पंचायत करने के लिए उसे बुलाया था

महराजगंज ब्लॉक में प्रमुख के सामने पंचायत करने के लिए उसे बुलाया गया था, वह टेंपो से उतर कर जैसे ही तहसील होकर ब्लॉक जाने लगा, तभी पहले से मौजूद मुन्नी देवी ने उसे रोक लिया, और बातचीत में ही चप्पल उतार कर उसको सरेआम पीटना शुरू कर दिया। वह कुछ समझ पाता कि, मुन्नी देवी के साथ आए दो तीन गुंडों ने उसे गिरा गिरा कर लात जूतों से मारना शुरू किया। उसकी चीख-पुकार सुनकर तहसील में मौजूद लोगों अधिवक्ताओं ने उसकी जान बचाई। वही महिला ने अपने समधी पर गंभीर आरोप लगाए।

कोतवाल शरद कुमार का कहना है कि

महिला की पिटाई से आहत और पीड़ित किसी तरह थाने पहुंचा, और मुन्नी देवी समेत अन्य लोगों के विरुद्ध शिकायती पत्र दिया है। कोतवाल शरद कुमार का कहना है कि, मामला संज्ञान में आया है, जांच कर उचित वैधानिक कार्यवाही की जाएगी।

Show More
Madhav Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned