63 छात्र हो गए पास, लेकिन उन्हें फेल बता कर रोक दी गई है स्कॉलरशिप...!

63 छात्र हो गए पास, लेकिन उन्हें फेल बता कर रोक दी गई है स्कॉलरशिप...!

Shiv Singh | Publish: Sep, 05 2018 12:06:45 PM (IST) Raigarh, Chhattisgarh, India

अजाक विभाग के रिकार्ड में ये छात्र फेल बताए जा रहे

रायगढ़. ओपी जिंदल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी पूंजीपथरा में पढऩे वाले 63 छात्र भले ही वर्ष 2015-16 के बैच में अध्यापन कर पास हो गए हैं, लेकिन अजाक विभाग के रिकार्ड में ये छात्र फेल बताए जा रहे हैं।


मामला उठने के बाद संबंधित विभाग का कहना है कि उक्त छात्रों की मार्कशीट व जानकारी कॉलेज प्रबंधन ने अजाक विभाग को उपलब्ध नहीं करवाई है, जिसके कारण अजाक विभाग ने अपने रिकार्ड में उक्त बच्चों को फेल दिखाकर उनकी छात्रवृत्ति को निरस्त कर दिया। अजाक विभाग के अधिकारियों का कहना है कि कई बार प्रबंधन को पत्र लिखा गया लेकिन जानकारी उपलब्ध नहीं हो पाई है जबकि छात्रों की माने तो कई छात्रों ने स्वयं अजाक विभाग में उपस्थित होकर 8 सेमेस्टर में पास होने का अंकसूची प्रस्तुत की है, इसके बाद भी इन छात्रों को छात्रवृत्ति की राशि जारी नहीं की गई।

Read more : पेंड़ पर शोर मचा रहे तोते को भगाते पिता ने ऐसा क्या देख लिया पैरों के नीचे से खिसक गई जमीन...

कुलमिलाकर देखा जाए तो वर्ष 2015-16 में पास होकर ओपी जिंदल इंस्टीटयूट ऑफ टेक्नोलॉजी से निकले छात्र अजाक विभाग और कॉलेज प्रबंधन के बीच फंसे हुए हैं। इसके लिए कॉलेज के प्राचार्य से लेकर सहायक आयुक्त कार्यालय और कलक्टर तक का चक्कर तीन साल में कई बार लगा चुके हैं लेकिन इसका कोई लाभ नहीं मिला आज भी उक्त छात्रों के खाते में छात्रवृत्ति की राशि जारी नहीं हो पाई है।


हर साल कई छात्र हो रहे हैं वंचित
छात्रों से इस समस्या को लेकर चर्चा की गई तो बताया गया कि यह समस्या सिर्फ 2015-16 की नहीं है बल्कि हर साल यहां के कई छात्र सरकार की इस योजना से वंचित हो जाते हैं। कॉलेज प्रबंधन द्वारा कहा जाता है कि जानकारी भेजी गई है जबकि अजाक विभाग कहता है जानकारी नहीं मिली है। अगर उक्त कॉलेज से पासआउट छात्रों और जारी छात्रवृत्ति राशि की जांच की जाए तो वास्तविकता सामने आ जाएगी।


कलक्टर ने भी लिखा था आयुक्त को पत्र
इस मामले में छात्रों की शिकायत के बाद 3 अक्टूबर 2017 को कलक्टर ने अजाक विभाग के आयुक्त को एक पत्र लिखा था जिसमें छात्रों की समस्या से अवगत कराते हुए बताया गया था कि टेबुलेशन चार्ट में फेल लिखा होने के कारण उक्त बच्चों का छात्रवृत्ति आवेदन निरस्त कर दिया गया था लेकिन छात्रों द्वारा प्रस्तुत दस्तावेज के कारण वे पास हैं इसलिए इसमें सहानुभुतिपूर्वक विचार कर छात्रवृत्ति की राशि छात्रों के बैंक खाते में जारी की जाए।


-हां छात्रों ने शिकायत किया है लेकिन इसमें हमारे द्वारा कॉलेज प्रबंधन से कई बार जानकारी उपलब्ध कराने के लिए पत्र लिखा है जानकारी नहीं मिल पा रही है। जानकारी मिलने पर विभाग उनके खाते में राशि जारी करने की कार्रवाई शुरू कर देगी।
-संकल्प साहू, सहायक आयुक्त अजाक विभाग

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned