scriptBus service could not start for patients going to MCH | मरीजों के लिए एमसीएच जाने शुरू नहीं हो सकी बस सेवा | Patrika News

मरीजों के लिए एमसीएच जाने शुरू नहीं हो सकी बस सेवा

आटो चालकों द्वारा मनमाने रेट पर ले जा रहे मरीजों को
मरीज के परिजनों को होना पड़ रहा परेशान

रायगढ़

Published: June 26, 2022 08:17:47 pm

रायगढ़. एमसीएच और मेडिकल कालेज अस्पताल तो शुरू हो गया, लेकिन यहां मरीजों व परिजनों के आने के लिए अभी तक न तो बस सेवा शुरू हो सकी और न ही आटो किराया निर्धारित किया जा सका है, जिससे मरीज व परिजनों को उपचार कराने अस्पताल पहुंचने में भारी समस्या का सामना करना पड़ रहा है।
गौरतलब हो कि विगत कई वर्षों से मेडिकल कालेज के नए भवन में अस्पताल को शिफ्ट करने की तैयारी चल रही थी, लेकिन कोई न कोई समस्या के कारण शिफ्ट नहीं हो पा रहा था, ऐसे में विगत दिनों स्वास्थ्य मंत्री द्वारा दिए गए कड़े निर्देशों के बाद जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग द्वारा आनन-फानन में शिफ्ट तो कर दिया गया, लेकिन सुविधा को नजर अंदाज करने के कारण यहां उपचार कराने आने वाले मरीजों व परिजनों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं अगर देखा जाए तो संत गुरु घासीदास अस्पताल और मदर एण्ड चाइल्ड अस्पताल शहर से काफी दूर है, ऐसे में इस मार्ग पर वाहनों का भी आना-जाना बहुत कम रहता है, ऐसे में अस्पताल आने के लिए मरीजों को या तो खुद के वाहन से आना पड़ता है या अधिक किराया देकर पहुंचना पड़ रहा है, जिससे मरीज व उनके परिजन दोनों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में अगर यहां सिटी बस की सुविधा शुरू हो जाता तो काफी राहत मिलती, साथ ही यहां मरीजों को भर्ती होने के बाद दवा हो या कोई और जरूरत पडऩे पर शहर ही आना पड़ता है, लेकिन दूर होने के कारण काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।
कलेक्टर के निर्देशों का नहीं हुआ पालन
एमसीएच और संत गुरु घासीदास अस्पताल शुरू होने के बाद मरीजों की परेशानी को देखते हुए कलेक्टर भीम सिंह ने बैठक आयोजित कर निर्देशित किया था कि जिला अस्पताल से एमसीएच तक सिटी बस की सुविधा उपलब्ध कराया जाए, साथ ही आटो किराया भी तय किया जाए ताकि मरीज व परिजनों को दिक्कत न हो, लेकिन माहभर बीत जाने के बाद भी इस पर किसी तरह की पहल नहीं हो सकी है। जिससे आटो चालकों द्वारा मनमानी रेट पर मरीजों को अस्पताल पहुंचा रहे हैं। वहीं अगर कोई मरीज को ओपीडी जांच कराकर वापस आना है तो जितने देर वहां खड़े होते हैं उसका अलग से राशि वसूल कर रहे हैं, जिससे मरीजों को दोहरा मार झेलना पड़ रहा है। ऐसे में अगर बस सेवा शुरू हो जाता तो काफी राहत मिलती।
अस्पताल जाने से कतरा रहे मरीज
इस संबंध में जिला अस्पताल आने वाले मरीजों से बात की गई तो उनका कहना था कि एमसीएच और संत गुरु घासीदास अस्पताल जाने और आने में ही काफी रुपए खर्च हो जा रहे हैं, ऐसे में अगर जिला अस्पताल में उपचार नहीं होता है तो इससे अच्छा है कि कोई निजी क्लिनिक में ही उपचार कराया जाए, ताकि आने-जाने की परेशानी से बच सके। हालांकि जिला अस्पताल में ही ज्यादातर मरीज उपचार कराकर लौट जा रहे हैं। वहीं गायनिक मरीजों को ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। क्योंकि जिला अस्पताल से गायनिक की सुविधा पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। जिससे ओपीडी जांच हो या डिलिवरी हो सभी के लिए एमसीएच ही जाना पड़ रहा है। जिससे कई मरीज निजी अस्पताल में ही उपचार कराना मुनासिब समझ रहे हैं।
raigarh
मरीजों के लिए एमसीएच जाने शुरू नहीं हो सकी बस सेवा

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Nashik News: कंबल में लेटाकर प्रेग्‍नेंट महिला को पहुंचाया गया हॉस्पिटल, दिल दहला देने वाला वीडियो हुआ वायरलबीजेपी अध्यक्ष ने LG को लिखा लेटर, कहा - 'खराब STP से जहरीला हो रहा यमुना का पानी, हो रहा सप्लाई'सलमान रुश्दी पर हमला करने वाले की ईरान ने की तारीफ, कहा - 'हमला करने वाले को एक हजार बार सलाम'58% संक्रामक रोग जलवायु परिवर्तन से हुए बदतर: प्रोफेसर मोरा ने बताया, जलवायु परिवर्तन से है उनके घुटने के दर्द का संबंध14 अगस्त स्मृति दिवस: वो तारीख जब छलनी हुआ भारत मां का सीना, देश के हुए थे दो टुकड़ेआरएसएस नेता इंद्रेश कुमार का बड़ा बयान, बापू की छोटी सी भूल ने भारत के टुकड़े करा दिएHimachal Pradesh: जबरदस्ती धर्म परिवर्तन करवाने पर होगी 10 साल की जेल, लगेगा भारी जुर्मानाDGCA ने एयरपोर्ट पर पक्षियों के हमले को रोकने के लिए जारी किया दिशा-निर्देश
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.