फ्रेंड्शीप बैंड बांध कर मासूमों ने कहा, सुरक्षा हमारे अधिकारों के साथ बचपन की भी हो, तब बनेगी बात

- बाल दिवस पर शासकीय और गैर-शासकीय संस्थाओं में जाकर बच्चों ने बांधा बैंड

By: Vasudev Yadav

Published: 14 Nov 2017, 05:53 PM IST

रायगढ़। बच्चों के अधिकार के साथ उनके बचपन की सुरक्षा की जिम्मेदारी तय हो। तब कल के भविष्य सुरक्षित रह पाएंगे। उक्त बातें शहर से सटे सराईभदर गांव के बच्चों ने शासकीय व गैर शासकीय संस्था के विभाग प्रमुख को फ्रेंड्शीप बैंड बांधने के दौरान कही। इस बीच अधिकारियों ने भी बच्चों के अधिकार के प्रति सजगता के साथ सुरक्षा का भरोसा दिया। बाल दिवस के अवसर पर रायगढ़ चाइल्ड लाइन की टीम, हर साल की तरह इस साल भी फ्रेंड्शीप बैंड बांधने का कार्यक्रम आयोजित किया था।

Read More : video- किन्नर महापौर ने निगम में किया जबरदस्त धमाका, विरोधियों की हालत पतली

शहर में बाल दिवस को लेकर कई कार्यक्रम आयोजित हुए। जिसमेंं चाइल्ड लाइन की ओर से फ्रेंड्शीप बैंड बांधने का कार्यक्रम भी आयोजित था। जिसके तहत चाइल्ड लाइन के समन्वयक गोपाल महापात्रे, काउंसलर शोभेंद्र्र डनसेना, दूबी श्याम, नारायण यादव, चैतन्य प्रधान, चैतन्य यादव, गुलापी गुप्ता, रीता मिंज की टीम सराईभदर के बच्चे अनु, कशीश,दिलेश्वरी, अंजली, नरेंद्र, सत्यवान व अन्य के साथ शासकीय व गैर शासकीय विभागों की ओर रुख किया। जहां उक्त बच्चों ने जिला प्रशासन के आला अधिकारी, एसपी बीएन मीणा, एएसपी यूबीएस चौहान, आरपीएफ, जीआरपी व शहर के थानों में जाकर उक्त फ्रेंड्शीप बैंड बांधा।

इस बीच बच्चों ने बातों ही बातों में खुद के अधिकार के साथ बचपन को भी संजोयने की दिशा में उचित कदम उठाने की मांग की। वहीं बच्चों के अधिकार को लेकर चलाए जा रहे अभियान को और भी प्रभावित तरीके से संचालित करने की कवकालत की। जिससे कोई भी बालक व बालिका के अधिकारों को हनन ना हो। फ्रेंड्शीप बैंड बंधवाने के बाद अधिकारी व संस्था प्रमुख ने भी बच्चों के अधिकार को रक्षा करने को लेकर हर संभव कदम उठाने की बात कही।

बच्चों में दिखा उत्साह
बाल दिवस पर फ्रेंड्शीप बैंड बांधने को लेकर बच्चों में भी काफी उत्साह देखा गया। पुलिस व जिला प्रशासनिक अधिकारियों की बीच खुद की मौजूदगी को लेकर उक्त बच्चे पहले तो थोड़ा असहज महसूस कर रहे थे। पर अधिकारियों के साथ कुछ देर चर्चा और फ्रेंड्शीप बैंड बांधने के बाद बच्चों ने भी उनसे खुलकर बातें की। इस बीच अधिकारियों द्वारा उक्त बच्चों को चॉकलेट, मिठाईयां देकर उनका उत्साहवर्धन किया गया।

Vasudev Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned