सफाई के लिए अब वार्डों में होगा कुछ ऐसा, पार्षद होंगे टीमलीडर

शहर की सफाई व्यवस्था को लेकर अब नई कवायद शुरू हो गई है। अब शहर के सभी वार्डों में टीम गठित की जाएगी।

By: Rajkumar Shah

Published: 10 Nov 2017, 01:24 PM IST

रायगढ़. शहर की सफाई व्यवस्था को लेकर अब नई कवायद शुरू हो गई है। अब शहर के सभी वार्डों में टीम गठित की जाएगी। इस टीम में वार्ड पार्षद अध्यक्ष रहेगा। वहीं इसके अलावा करीब चार सदस्य और इस टीम में रहेंगे। यह टीम वार्ड की सफाई व्यवस्था की लगातार मानीटरिंग करेगी। टीम बनाने की बात पिछले दिनों तब उठी थी, जब डेंगू को लेकर कलेक्टोरेटे में बैठक आयोजित की गई थी।


शहर की सफाई व्यवस्था को लेकर आए दिन सवाल उठ रहे हैं। हालांकि निगम के अधिकारी इन सवालों को लेकर एक रटा-रटाया जवाब देते हैं तो पहले से अब सफाई व्यवस्था को बेहतर किया जा रहा है। यह बेहतरी कागजों में तो रहती है, लेकिन धरातल पर नहीं आती। इसकी वजह से शहर के अधिकांश क्षेत्रों में सफाई की सफाई देखी जा सकती है। इस बात की लगातार पार्षद भी शिकायत करते हैं।


पिछले दिनों जब शहर में डेंगू ने पांव पसरा तो निगम के इस दावे की पोल खुली और वे सफाई व्यवस्था को लेकर कटघरे में आ गए। वहीं डेंगू को लेकर जब जनप्रतिनिधियों व आम लोगों की बैठक कलेक्टोरेट में हुई तब यह बात उठी कि शहर की सफाई व्यवस्था की मानीटरिंग करने के लिए कमेटी गठित की जाए।


इस टीम में वार्ड में रहने वाले लोगों को ही शामिल किया जाए, ताकि वार्डवासी अपने वार्ड में सफाई व्यवस्था की मानीटरिंग कर सके। इस सुझाव को अमल में लाया जा रहा है। बताया जा रहा है कि वार्ड में सफाई व्यवस्था की मानीटरिंग करने के लिए टीम गठन करने की तैयारी शुरू हो चुकी है। जल्द ही सभी वार्डों की टीम घोषित कर दी जाएगी।


सवाल यह कि कम हैं कर्मचारी कैसे होगा काम- नगर निगम के द्वारा सफाई व्यवस्था की मानीटरिंग करने के लिए टीम गठित की जा रही है। इस टीम में कम से कम पांच लोग शामिल होंगे। खास बात यह है कि शहर के वार्डों में पांच कर्मचारी सफाई के लिए जाते हैं, लेकिन यह कर्मचारी पर्याप्त नहीं होते।

इसकी वजह से वार्ड में सफाई सही तरीके से नहीं हो पाती। निगम के द्वारा सफाई व्यवस्था की मानीटरिंग करने के लिए टीम बना रही है, लेकिन सफाई करने वाले कर्मचारियों की संख्या नहीं बढ़ा रही। इससे स्थिति में बदलाव की बात बेमानी ही साबित होगी।


अब टीम से होगा सवाल- शहरी क्षेत्र की सफाई व्यवस्था की मानिटरिंग करने के लिए टीम बनाने पर निगम कर्मचारियों में भी खुशी देखी जा रही है। इसके पीछे कारण यह है कि कई बार कर्मचारी वार्ड मेंं बेहतर तरीके से सफार्ई कराते हैं। इसके बाद भी उनकी कार्यशैली पर सवाल उठाए जाते हैं। अब तब मानिटरिंग की जिम्मेदारी उनके साथ टीम की भी रहेगी तो उनके सवाल जवाब कम होगा।


डेंगू को लेकर प्रशासन से मिला सर्व समाज- डेंगू से निपटने के लिए सर्व समाज मंच के सदस्यों ने गुरुवार को सहायक कलेक्टर से मुलाकात की। वहीं कलेक्टर के नाम ज्ञापन भी सौंपा। इस ज्ञापन में डेंगू से निपटने के लिए एक वर्ष की कार्य योजना सुझाव के रूप में दी गई। साथ ही उक्त कार्ययोजना को लागू किए जाने की मांग की गई। इस दौरान लोगों ने ज्ञापन के माध्यम से कहा कि डेंगू समाप्त होने का नाम नहीं ले रहा है।

इसी तरह की स्थिति रही तो आने वाले दिनों में यह बीमारी और भी घातक सिद्ध होगी। ऐसे में सर्व समाज के द्वारा 12 बिन्दुओं पर सुझाव भी दिया गया। वहीं इस सुझाव को मूर्तरूप देने के लिए कलेक्टोरट के अधिकारी को नोडल बनाए जाने की मांग की गई। वहीं सर्व समाज के द्वारा सौंपे गए ज्ञापन में वार्ड सहयोगी दल, विशेष सफाई दल, तोडू, स्प्रे, पावडर, नोटिस, जागरूकता, मेडिकल कैंप व अन्य बिन्दुओं पर सुझाव दिया गया।

इसमें कहा गया कि एक विशेष टीम गठित करते हुए वार्डों में सफाई करवाई जाए। इसके अलावा स्प्रे व पावडर छिड़काव के लिए भी विशेष टीम के द्वारा करवाए जाने की मांग की गई। ज्ञापन सौंपने के दौरान बार कौंसिल अध्यक्ष सतेंद्र सिंह, जयंत ठेठवार, दीपक पाडेंय, संजय देवांगन, दयाराम धुर्वे सहित अन्य लोग मौजूद थे।

Rajkumar Shah Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned