पशु चिकित्सा विभाग के उप संचालक आरएच पाण्डेय को इस मामले में नोटिस जारी

पशु चिकित्सा विभाग के उप संचालक आरएच पाण्डेय को इस मामले में नोटिस जारी

Shiv Singh | Publish: Sep, 09 2018 06:15:15 PM (IST) Raigarh, Chhattisgarh, India

- जिला प्रशासन के माध्यम से डॉयरेक्टेड पशु चिकित्सा विभाग को भेजे गए जांच प्रतिवेदन पर अभी तक नहीं हो पाई कोई कार्रवाई

रायगढ़. पशु चिकित्सा विभाग के उप संचालक द्वारा गलत दूरी दिखाकर अत्यधिक डीजल खर्च कर शासकीय राशि का दुरूपयोग करने के मामले में हुई शिकायत की पुष्टि जांच में की गई है। इसमें उप संचालक को जारी नोटिस के जवाब का पता नहीं है तो वहीं दूसरी ओर जिला प्रशासन के माध्यम से डॉयरेक्टेड पशु चिकित्सा विभाग को भेजे गए जांच प्रतिवेदन पर अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हो पाई है। जिसके कारण आज भी उक्त विभाग में उसी हिसाब से डीजल खर्च करने का सिलसिला चल रहा है।

जांच रिपोर्ट में यह बात सामने आई कि वर्ष २०१५-१६ में लगभग २५६१९ किलोमीटर अधिक दूरी वाहन की गतिमापक पुस्तिका में अंकित किया गया गया है। इसके माध्यम से शासकीय राशि का दुरूपयोग किया जाना प्रतीत होता है। जांच रिपोर्ट में आए तथ्यों के बाद कलक्टर शम्मी आबिदी ने इस मामले में पशु चिकित्सा विभाग के उप संचालक आरएच पाण्डेय को नोटिस जारी किया, जिसमें कहा गया है कि उक्त कार्य सिविल सेवा आचरण संहिता के विपरीत है और दण्डनीय है। सात दिनों के भीतर सभी दस्तावेजों व अभिलेख के साथ अपना जवाब पेश करें। जवाब न मिलने व संतोषप्रद जवाब न मिलने की स्थिति में अनुशासनात्मक कार्रवाई करने के लिए शासन को प्रकरण भेजने की बात भी कही गई थी, लेकिन अभी तक इस मामले में उप संचालक द्वारा दिए गए जवाब का पता नहीं है।

बताया जाता है कि जवाब न मिलने के कारण इस प्रकरण में आगे की कार्रवाई के लिए शासन को भेजा गया है लेकिन यह फाईल पशु चिकित्सा विभाग के डॉयरेक्टेड में जाकर लटक गया है। इसमें अभी तक संबंधित विभाग के उच्च अधिकारियों ने किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं की है न ही इसमें विभागीय जांच शुरू किया गया है।

इस तरह दिखाया गया था डीजल खर्च
उक्त उडऩखटोला सात नवंबर को सुबह ५ बजे रायगढ़ से रायपुर के लिए रवाना होता है और १० बजे तक वापस रायगढ़ आकर लोइंग और महापल्ली के लिए रवाना हो गया और ७ बजे तक वापस रायगढ़ आ पहुंची। इसीप्रकार और कई प्रकरण शामिल है। जिसमें एक ही दिन में दो से तीन दिशाओं में टूर दिखाया गया है।

दिखाया गया अत्याधिक दूरी
13 नवंबर रायगढ़ से नंदेली - नंदेली से रायगढ़ 80 किलोमीटर
5 नवंबर रायगढ़ लोकल 44 किलोमीटर
20 अक्टूबर रायगढ़ लोकल 46 किलोमीटर
18 अगस्त लोकल 42 किलोमीटर

-शिकायत की जांच पूरी हो चुकी है। जांच टीम ने शिकायत को सही पाया है जिसमें २५ हजार किलोमीटर अधिक इंट्री की गई है। इस मामले में उच्च अधिकारियों को रिपोर्ट पेश किया गया है। जांच रिपोर्ट के आधार पर इसमें नोटिस भी जारी हो चुका है- चंदन त्रिपाठी, सीईओ जिला पंचायत

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned