चुहकीमार के जंगल में हाथी ने एक ग्रामीण को कुचल कर मार डाला

चुहकीमार के जंगल में हाथी ने एक ग्रामीण को कुचल कर मार डाला

Vasudev Yadav | Publish: Jun, 17 2019 01:19:49 PM (IST) Raigarh, Raigarh, Chhattisgarh, India

धरमजयगढ़ वन मंडल(Dharamjaygarh Forest Division) में हाथी(Elephant) एक ग्रामीण को बुरी तरह कुचल कर मार डाला। ग्रामीण बीते शुक्रवार की रात करीब सात बजे खेत(Farm) से लौट रहा था। इस समय उसका सामना दंतैल से हुआ।

कुड़़ेकेला/धरमजयगढ़. धरमजयगढ़ वन मंडल में हाथी(Elephant) एक ग्रामीण को बुरी तरह कुचल कर मार डाला। ग्रामीण बीते शुक्रवार की रात करीब सात बजे खेत(farm) से लौट रहा था। इस समय उसका सामना दंतैल से हुआ। मामले की जानकारी दूसरे दिन सुबह वन विभाग(Forest department) के अधिकारियोंं को लगी। ऐसे में वे घटना स्थल पहुंचे और पीडि़त परिजनों को तात्कालीक सहायत के रूप में 25 हजार रुपए दी।
हाथी(Elephant) के आतंक से एक बार फिर वन मंडल(Forest department) धरमजयगढ़ में दहशत का आलम है। शुक्रवार शाम 6 बजे काशाबहार निवासी हरिराम मंझवार पिता सुखदेव मंझवार उम्र 45 वर्ष जो कि अपने गांव से चुहकीमार रोजाना की तरह मजदूरी करने गया था। वहीं वापसी में लगभग 6 बजे काशाबहार चुहकीमार के बीच छुही नाला के पास हाथी से आमना सामना हो जाने पर युवक ने अपने को हाथी से बचाने का प्रयास किया, लेकिन दंतैल हाथी के पकड़ से वह अपने आप को नहीं बचा सका।
गुस्साए दंतैल हाथी ने युवक को बुरी तरह से कुचल कर मार डाला। इतने में हाथी का आक्रोश शांत होता नजर नहीं आया और शव को 10 मीटर के इर्द गिर्द मानो फुटबाल की तरह खेलता रहा। इससे शरीर छत विक्षत हो गया। घटना की जानकारी परिजन व ग्रामीणों को तब हुई जब घटना स्थल से लोगों का आना जाना शुरू हुआ।
मृतक के कपड़े से शिनाख्त किया गया कि वह कांशाबहार निवासी हरिराम है जो कि चुहकीमार को मजदूरी की रूप में मूंगफली तोडऩे गांव से पैदल आया जाया करता था। वहीं घटना की जानकारी मिलते ही वन अमला डॉक्टर व पुलिस की संयुक्त टीम घटना स्थल पहुँच कर मौका मुआयना कर कागजी कार्रवाई करते हुए बुरी तरफ से कई टुकड़ों में बिखरे शरीर को एकत्र कर शव को परिजन के सुपुर्द कर वन विभाग द्वारा तत्काल सहायता राशि मृतक के पत्नी को 25 हजार प्रदान किया गया।

Read More : वॉल्व हुआ स्लीप तो रातभर व्यर्थ बहता रहा पानी, सुबह होते ही मच गई थी मारामारी
वन परिक्षेत्र छाल अंतर्गत कंपार्टमेंट 511-513 में एक हाथी का होने का संकेत मिला था। इसे लेकर गांव में लगातार दो दिनों से मुनादी कराई जा रही थी। शाम साढ़े छह बजे के आस पास चुहकीमार से अपने घर को आ रहा था तभी हाथी से सामना हो जाने से हरिराम मंझवार की मौत हो गई। इसकी सूचना सुबह मिली। सूचना मिलते ही घटना स्थल पहुंच कर कागजी कार्रवाई करते हुए तात्कालिक सहायता राशि 25 हजार मृतक के पत्नी को प्रदान किया गया। शेष 3 लाख 75 हजार रुपए विभागीय प्रक्रिया पूरी होने के बाद शासन की ओर से प्रदान की जाएगी।

हाथी के हमले से एक ग्रामीण की मौत हो गई है। पीडि़त परिवार को तात्कालीक सहायता के रूप में शासन की ओर से राशि दी गई है। वहीं हाथी को लेकर लोगों को जागरूक किया जा रहा है।
प्रणय मिश्रा, डीएफओ, धरमजयगढ़ वन मंडल

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned