जानिए कौन हैं वो, जो हल्ला मचाकर शासन को कोस तो रहे लेकिन चुपके से उठा रहे बोनस

Rajkumar Shah

Publish: Oct, 13 2017 12:30:49 (IST)

Raigarh, Chhattisgarh, India
जानिए कौन हैं वो, जो हल्ला मचाकर शासन को कोस तो रहे लेकिन चुपके से उठा रहे बोनस

किसानों को बोनस को लेकर कांग्रेस काफी हल्ला मचा रही थी। अब जब हमने किसानों को बोनस दे दिया है तो कांग्रेस का चेहरा फ्यूज बल्ब की तरह हो गया है।

रायगढ़. किसानों को बोनस को लेकर कांग्रेस काफी हल्ला मचा रही थी। अब जब हमने किसानों को बोनस दे दिया है तो कांग्रेस का चेहरा फ्यूज बल्ब की तरह हो गया है।

अब वे खुद यह सोच रहे हैं कि वर्ष 2018 में होने वाले चुनाव में उनका पत्ता साफ हो जाएगा। यह कहना था प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह बोनस तिहार में किसानों को बोनस देने गुरुवार को रायगढ़ पहुंचे थे। इसके लिए शहर के मिनी स्टेडियम में कार्यक्रम आयोजित किया गया था।


मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह जिले के 68763 किसानों को 127 करोड़ 97 लाख 6310 रुपए का बोनस राशि वितरण करने यहां पहुंचे थे। इस दौरान मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने 92 करोड़ 49 लाख 80 हजार रुपए के विभिन्न विकास कार्यों का शिलान्यास एवं लोकार्पण भी किया।

इसके बाद वे बोनस तिहार के लिए सजाए गए मंच पर पहुंचे। इस दौरान मुख्यमंत्री रमन सिंह का कहना था कि भाजपा की सरकार किसानों की चिंता करने वाली सरकार है।


शुरू से ही सरकार उनकी चिंता कर रही है। उनका कहना था कि इससे पहले जब छत्तीसगढ़ बना तब प्रदेश में कांग्रेस की सरकार थी। इस समय किसानों को काफी परेशान करते हुए उनका धान खरीदा जाता था। आज वहीं लोग किसानों के हितैषी बने हुए हैं।

उनका कहना था कि किसानों के हित में जो कदम उठाया है। वह भाजपा की सरकार ने ही उठाया है। मुख्यमंत्री का कहना था कि जिन किसानों के फसल अच्छे हुए उन्हें दीपावली के पहले ही बोनस दे दिया गया।


अपने भाषण में कांग्रेसियों पर ली चुटकी- मुख्यमंत्री ने इस दौरान कांग्रेसियों पर चुटकी भी ली। कांग्रेस के लोग यह चिल्ला रहे हैं कि वे बोनस नहीं लेंगे, लेकिन दिन में तो वे यह कहते हुए चिल्ला रहे हैं कि बोनस नहीं लेेंगे।

वहीं इसके बाद चुपके से बैंक पहुंच रह बोनस की राशि ले रहे हैं। इसके बाद फिर आकर यह कह रहे हैं कि बोनस नहीं लेंगे। यह कांग्रेस की पद्धति है। इस कार्यक्रम के दौरान जिले के प्रभारी मंत्री राम सेवक पैंकरा ने भी उद्बोधन दिया।


सभा में हुई हाथापाई- इस कार्यक्रम के दौरान सीट पर बैठने को लेकर विवाद को लेकर कुछ भाजपाई आपस में उलझ गए थे। जोरदार हंगामा भी हुआ पर बाद में मामला शांत हो गया। कार्यक्रम में केंद्रीय राज्य मंत्री विष्णुदेव साय का कहना था कि जब छत्तीसगढ़ राज्य बना तब तीन साल तक प्रदेश में कांग्रेस की सरकार थी। इस दौरान किसानों के एक एकड़ के पीछे धान पांच क्विंटल धान खरीदा जाता है। इसमें भी राशि मिलने की अनिश्चितता बनी रहती थी।


विधायक ने रखी मांग- बोनस तिहार कार्यक्रम के दौरान रायगढ़ विधायक रोशन लाल अग्रवाल ने उद्बोधन दिया। इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री के समक्ष तीन मांगे भी रखी। इसमें मुख्य रूप से शहर के चारों ओर रिंग रोड का निर्माण, जिले को ग्रीन सिटी के रूप में विकसित करने और शहर में हाईटेक बस स्टैंड देने की मांग की।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned