एटीएम क्लोनिंग गिरोह का मास्टर माइंड पकड़ाया, तीन अन्य फरार, ऐसे देते थे घटना को अंजाम

ATM cloning: एटीएम क्लोनिंग (ATM cloning) के जरिए लोगों के एकाउंट से राशि आहरण करने वाले गिरोह के मास्टर माइंड को कोतरा रोड पुलिस ने पकड़ लिया है। वहीं इस गिरोह के तीन सदस्य अभी भी फरार हैं।

रायगढ़. शहर कोतरा रोड व कोतवाली थाना क्षेत्र में एटीएम क्लोनिंग (ATM cloning) की शिकायत काफी बढ़ गई थी। एक की शिकायत पर कोतरा रोड पुलिस ने जहां अज्ञात के खिलाफ अपराध दर्ज किया था तो वहीं कोतरा रोड थाना में एटीएम क्लोनिंग की आठ शिकायत दर्ज हैं, जिसमें जांच की जा रही थी।
पुलिस ने शिकायतों के आधार पर एटीएम बूथ में लगी सीसी टीवी कैमरा फुटेज खंगाला तो कुछ सुराग मिले। इस सुराग के आधार पर 10 दिन पहले पुलिस की टीम बिहार रवाना हुई। वही बिहार के गया निवासी सुधांशु कुमार 27 वर्ष को पकड़कर पूछताछ की। पूछताछ के दौरान सुधांशु ने अपने द्वारा किए कृत्य को स्वीकार किया और बताया कि उसके साथ तीन लोग और शामिल हैं जिसमें दो नाबालिग तो एक अन्य है। तीनों जिस कार का उपयोग इस कार्य के लिए करते थे उक्त वाहन को लेकर वे फरार हैं।

Read More: मानिकपुर क्षेत्र से दो महिला का अपहरण, एक ने भागकर बचाई जान, तो दूसरे को पुलिस ने यहां से किया बरामद
पुलिस ने बताया कि सुधांशु बीटेक इंजीनियर है और एमपी बिड़ला गु्रप में प्रोजेक्ट मैनेजर के पद पर कार्यरत था। इसके बाद शार्ट-कर्ट तरीके से रुपए कमाने एटीएम क्लोनिंग का काम शुरू किया। धीरे से वह गिरोह बनाकर स्वयं मास्टर माइंड बन गया।

यू-ट्यूब से देखकर मंगाया था स्कीमर
गिरोह के मास्टर माइंड ने पुलिस को बताया कि वह यू-ट्यूब से एटीएम क्लोनिंग के लिए स्कीमर मशीन देखा। वहीं इसके बाद अली बाबा शापिंग एप से ऑनलाइन ऑर्डर कर उसे मंगाया। एटीएम में उस स्टीमर को फीट कर देते थे, जिसके बाद संबंधित उपभोक्ताओं के एटीएम का सारा डाटा हैक हो जाता था और फिर उपभोक्ता के जाने के बाद उसके खाते से राशि आहरण कर ली जाती थी।

Vasudev Yadav Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned