scriptn the name of investigation regarding the parameters of private school | प्राईवेट स्कूलों आरटीई के मापदंडों को लेकर जांच के नाम पर हुई खानापूर्ति | Patrika News

प्राईवेट स्कूलों आरटीई के मापदंडों को लेकर जांच के नाम पर हुई खानापूर्ति

जिले के २४४ प्राईवेट स्कूलों में से एक में भी नहीं मिली कोई खामियां

रायगढ़

Published: April 20, 2022 08:38:02 pm

रायगढ़। शिक्षा विभाग द्वारा आरटीई के मापदंडों को लेकर पिछले दिनों जिले के २४४ प्राईवेट स्कूलों का परीक्षण कर उनको हरी झंडी दे दी गई है। आश्चर्य की बात तो यह है कि इन सभी स्कूलों में से एक स्कूल में भी आरटीई के मापदंड के आधार पर कोई खामियां नहीं मिली है।
विदित हो कि इन दिनों जिला मुख्यालय की बात करें या ग्रामीण क्षेत्र दोनो ही जगहों में कई ऐसे प्राईवेट स्कूल संचालित हैं जहां न तो बच्चों के खेलने के लिए खेल मैदान नहीं है। ऐसी स्थिति में आरटीई के मापदंडों को लेकर हरी झंडी दिया जाना लोगों के समझ से परे है। शिक्षा विभाग के अधिकारियों की माने तो गठित जिला स्तरीय टीम और नोडल अधिकारियों द्वारा नियमानुसार ८ प्रतिशत से अधिक फीस बढ़ोततरी, पूर्व में आरटीई के तहत प्रवेशित बच्चों की वर्तमान स्थिति और नए सत्र में प्रवेश के लिए दिए गए आरक्षित सीटों की संख्या सहित अन्य बिंदुओं पर जांच करना बताया गया। लेकिन इस बात की जांच नहीं की गई कि प्राईवेट स्कूलों द्वारा तय किए गए फीस के हिसाब से बच्चों को किस स्तर की सुविधा दी जा रही है। आरटीई के मापदंड के आधार पर एक स्कूल में क्या क्या होना चाहिए और इसकी पूर्ति है या नहीं। इन तथ्यों को नजरअंदाज करते हुए जांच के नाम पर खानापूर्ति कर दिया गया है। विभाग द्वारा जारी रिलीज में यह भी बताया गया है कि निरीक्षण के द्वारा निरीक्षण दलों ने प्राईवेट स्कूल प्रबंधन को कड़ी चेतावनी दी है कि भविष्य में फीस नियमन समिति के अनुमोदन नहीं होने, मान्यता संबंधी नियमों की अनदेखी करने अथवा 8 प्रतिशत से अधिक की शुल्क वृद्धि किए जाने पर विभाग द्वारा नियमानुसार कठोर कार्रवाई की जाएगी।
किस ब्लाक में कितने स्कूल
जिले के 9 विकास खंडों में अशासकीय स्कूलों में मान्यता, शुल्क वृद्धि व आरटीई के तहत दिए गए प्रवेश संबंधी दस्तावेजों की जांच करने के लिए गठित जिला निरीक्षण दल व 9 नोडल अधिकारी प्राचार्यों द्वारा रायगढ़ के 17, पुसौर के 20, सारंगढ़ के 48, बरमकेला के 38, खरसिया के 18, तमनार के 24, लैलूंगा के 34, धर्मजयगढ़ के 31 व घरघोड़ा के 14 सहित जिले के कुल 244 अशासकीय विद्यालयों का सघन निरीक्षण किया गया।
इन तथ्यों पर संज्ञान नहीं
नियमानुसार कोई भी स्कूल प्रबंधन शैक्षणिक सामग्री के लिए एक दुकान से खरीदी के लिए बाध्य नहीं कर सकता है लेकिन स्कूल प्रबंधन व बूक डिपो के गठजोउ़ से पालकों को मजबूर किया जा रहा है। यह बात समय -समय पर सामने आते रहती है लेकिन इन तथ्यों पर कभी विभाग ने कोई जांच ही नहीं किया ।
वर्सन
सभी स्कूलों की जांच टीम व नोडल अधिकारियों द्वारा किया गया है कहीं कोई गड़बड़ी नहीं मिली है। प्रबंधनों को हिदायत दिया गया है।
आरपी आदित्य, डीईओ रायगढ़
प्राईवेट स्कूलों आरटीई के मापदंडों को लेकर जांच के नाम पर हुई खानापूर्ति
शिक्षा विभाग का कार्यालय

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Delhi Shopping Festival: सीएम अरविंद केजरीवाल का बड़ा ऐलान, रोजगार और व्यापार को लेकर अगले साल होगा महोत्सवMaharashtr: नासिक में 'सूफी बाबा' ख्वाजा सैय्यद चिश्ती की हत्या, सिर में मारी गई गोली, अफगानिस्तान से था नाताKaali Poster Controversy: कनाडा के म्यूजियम ने हिंदू आस्था को ठेस पहुंचाने पर मांगी माफी, नहीं दिखाई जाएगी 'काली' फिल्म2024 के आम चुनाव से पहले आधार कार्ड से लिंक होगी मतदाता सूची, फार्म- 6बी भरकर करना होगा जमासीएम बनने के बाद जब पहली बार घर पहुंचे एकनाथ शिंदे, पत्नी ने खुद ढोल बजाकर किया स्वागत, वायरल हुआ VIDEOकोलकाता में मुस्लिम युवाओं ने पेश की नजीर, पुराने शिव मंदिर का किया पुनर्निर्माण, क्राउड फंडिंग कर जुटाया पैसाDomestic cylinder price: घरेलू गैस सिलेंडर महंगा, कमर्शियल सिलेंडर के दाम घटेदिल्ली सरकार का बड़ा फैसला! फूड डिलीवरी से लेकर कैब सर्विस तक, हर काम में इस्तेमाल होंगे केवल Electric Vehicles
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.