पढि़ए खबर, आखिर क्यों इन भारी वाहन चालकों पर प्रशासन ने कसा शिकंजा, रातोंरात 1.12 लाख का ठोका जुमाना

रविवार व सोमवार के तड़के सुबह चार बजे मरीन ड्राईव और चक्रधर नगर थाने के सामने 45 वाहनों की जांच की गई।

By: Shiv Singh

Published: 13 Mar 2018, 12:33 PM IST

रायगढ़. शार्ट-कर्ट के चक्कर में शहर के अंदर से होकर गुजरने वाले भारी वाहनों पर रविवार की रात कार्रवाई की गई। पिछले दिनों शहर के अंदर से बेखौफ होकर चल रहे भारी वाहना को लेकर पत्रिका में प्रकाशित खबर के बाद रविवार को जांच की गई। उक्त जांच में इसकी पुष्टि हुई और कार्रवाई की गई।

रविवार व सोमवार के तड़के सुबह चार बजे मरीन ड्राईव और चक्रधर नगर थाने के सामने 45 वाहनों की जांच की गई। जिसमें से 5 वाहनों पर ओवरलोड की कार्रवाई करते हुए जब्ती की कार्रवाई की गई है। शेष वाहनों पर पेनाल्टी ठोंकी गई है। मंगलवार को शाम तक उक्त वाहनों से करीब 1 लाख 12 हजार रुपए का पेनाल्टी विभाग के कोष में जमा हो चुका था।

Read More : VIDEO- रेलवे कॉलोनी में अवैध रूप से बिछाया गया है टीवी केबल, आदेश के तीन सप्ताह बाद भी नही हुई कार्रवाई

ज्ञात हो कि भारी वाहनों का शहर के अंदर प्रवेश पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाते हुए रामपुर पुलिया से होते हुए आवागमन करने का रूट निर्धारित किया गया है। लेकिन रात के अंधेरे का फायदा उठाते हुए वाहन चालक व ट्रंासपोर्टर मनमानी पर उतारू हो गए थे और शार्ट-कर्ट के चक्कर में शहर के अंदर मरीन ड्राइव व जेल कॉम्प्लेक्स मार्ग से आवगामन शुरू कर दिया था।

रात 10 बजे के बाद उक्त दोनो ही मार्गो में भारी वाहनों की रेलमपेल रहती थी। इसके कारण कई छोटे बड़े हादसे भी हुए हैं और पिछले दिनों इन्ही वाहनों के चपेट में आने से बाल-बाल बचे कुछ दोपहिया वाहन चालकों ने भी पत्रिका को इस बारे में बताया था। जिसको लेकर प्रकाशित खबर के बाद रविवार को परिवहन अधिकारी अगस्टीन टोप्पो और खनिज विभाग की टीम ने पुलिसकर्मियों के सहयोग से रात करीब 10 बजे मरीन ड्राईव में जांच शुरू किए। कुछ घंटों तक चले जांच के दौरान काफी वाहनो को रोकवाकर कार्रवाई की गई। इसके बाद चक्रधर नगर थाने के सामने जांच अभियान चलाया गया। दोनो जगहों में 45 वाहनों पर कार्रवाई की गई।

कुछ चालक भागने का कर रहे थे प्रयास
मरीन ड्राइव व चक्रधर नगर थाने के सामने कुछ वाहनों को जब पुलिसकर्मी ने रोकने का प्रयास किया तो वाहन इतनी तेज गति में थी कि रुकने के बजाए आगे निकल गई और फिर ड्रायवर भागने का प्रयास करने लगे जिनको पुलिसकर्मियों ने दौड़ाकर पकड़ा है। ऐसे कई वाहनों को खड़ा किया गया है जिनपर कार्रवाई की तैयारी चल रही थी।

मॉनिटरिंग की है जरूरत
भारी वाहन चालकों की मनमानी को लेकर उक्त मार्ग से लगे क्षेत्र के लोग काफी परेशान हैं। समय-समय पर इसकी शिकायत भी की जाती रही है लेकिन कार्रवाई नहीं होती है। इसको लेकर जानकारों का कहना है कि एक दिन की कार्रवाई करने के बजाए समय-समय पर मॉनिटरिंग करने की जरूरत है।

-इस मामले में शिकायत मिलने पर जांच की गई। रात 10 बजे से 4 बजे तक 45 वाहनों पर कार्रवाई की गई है। अब तक 1 लाख 12 हजार रुपए का जुर्माना वसूला गया है। ५ वाहनों का ओवरलोड का प्रकरण बनाकर कार्रवाई की गई है-अगस्टीन टोप्पो, जिला परिवहन अधिकारी

Shiv Singh Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned