अभी भी जिले के 21 समितियों में धान का उठाव रिकार्ड में शेष, शार्टेज का आंकलन रूका

हांलाकि अािधकारियों का दावा है कि दो से तीन दिनों के भीतर पूरे 123 समितियों से धान का उठाव शत प्रतिशत हो जाएगा

By: Vasudev Yadav

Updated: 03 Mar 2019, 05:47 PM IST

रायगढ़. समर्थन मूल्य में धान खरीदी शुरू होने के साथ ही साथ धान का उठाव भी शुरू हो गया था लेकिन खरीदी खत्म होने के एक माह बाद भी उठाव पूरा नहीं हो पाया है। अभी भी जिले के 21 समितियों में धान का उठाव रिकार्ड में शेष दिखा रहा है, जिसके कारण शार्टेज का आंकलन रूका हुआ है। विदीत हो कि समर्थन मूल्य में धान खरीदी पूरा होने के बाद जब समितियों से कस्टम मिलिंग और संग्रहण केंद्रों में धान जमा कर दिया जाता है इसके बाद समितियों का भौतिक सत्यापन कर रिकार्ड का मिलान किया जाता है ताकि शार्टैज का आंकलन किया जा सके।

कितना धान समितियों ने क्रय किया है और कितना जमा किया गया है इसका मिलान किया जाता है, लेकिन उठाव पूरा न हो पाने के कारण उक्त आंकलन व भौतिक सत्यापन का काम रूका हुआ है। हांलाकि अािधकारियों का दावा है कि दो से तीन दिनों के भीतर पूरे 123 समितियों से धान का उठाव शत प्रतिशत हो जाएगा। इसके पहले भी फरवरी में उठाव पूरा होने का दावा किया गया था लेकिन नहीं हो पाया।
Read More : बीवी की मौत के बाद मिले मुआवजे से पीने लगा और अधिक शराब, फिर एक रोज ये हुआ...

कई जगह रिकार्ड में धान लेकिन मौके पर नहीं
सूत्रों की मानें तो कई धान खरीदी समितियों में रिकार्ड में धान शेष दिखा रहा है लेकिन रिकार्ड में जितना धान उठाव के लिए शेष दिखा रहा है उतना धान समिति में नहीं है, जिसके कारण उक्त धान का उठाव नहीं हो पा रहा है। हांलाकि इस बात को विपणन विभाग के अधिकारी नकार रहे हैं।

प्रोत्साहन के चक्कर में कर रहे जीरो शार्टेज
विदीत हो कि समितियों को जीरो शार्टेज पर प्रोत्साहन राशि मिलता है। वहीं शार्टेज आने पर रिकवरी होती है इसके कारण अब समितियों में शार्टेज की भरपाई करने का प्रयास किया जा रहा है। यही कारण है कि अभी तक धान का उठाव सभी समितियों से पूरा नहीं हो पा रहा है।

Vasudev Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned