script\"Sir, what do you tell ...\" | \"साहब, आप ही बताओ क्या करूं...\" | Patrika News

\"साहब, आप ही बताओ क्या करूं...\"

झुंझुनूं। साहब, मेरे पति को शहीद हुए चार साल हो गए। उनको गैलेंट्री अवार्ड भी मिला था...

झुंझुनू

Updated: January 16, 2015 12:13:07 pm

झुंझुनूं। साहब, मेरे पति को शहीद हुए चार साल हो गए। उनको गैलेंट्री अवार्ड भी मिला था। शहीद पैकेज भी अभी तक पूरा नहीं मिला है। अधिकारियों के चक्कर भी काटे। वे कहते हैं किसी नेता से सिफारिश करवाओ। अब आप ही बताओ मैं क्या करूं...। किसी की आंखे नम थी तो कोई हाथ जोड़कर अपनी फरियाद सुना रहा था।

कुछ ऎसा ही माहौल था बुधवार को शहर के गुढ़ागौड़जी रोड पर स्थित ईसीएचएस के पास हुई गौरव सैनानी कल्याण रैली में। रैली में आई वीरांगनाओं व पूर्व सैनिकों ने सैनिक कल्याण बोर्ड के निदेशक ब्रिगेडियर एसके शर्मा को अपनी समस्याओं से अवगत कराया।

पूर्व सैनिक बहादुरसिंह की पत्नी फूल कंवर ने बताया कि पहले तो बीकानेर आयुक्त उपनिदेशक ने उनके पति को मोहनगढ़ में 24.05 बीघा भूमि आवंटित कर दी। उनके निधन के बाद बिना सूचना के उक्त भूमि को किसी दूसरे को आवंटित कर दिया गया। उन्होंने जमीन आवंटन संबंधी दस्तावेज सेना व सैनिक कल्याण बोर्ड के अधिकारियों को दिखाते हुए जमीन आवंटित कराने की मांग की।

सेना की नर्सरी है झंुंझुनंू जिला
इससे पूर्व कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि सैनिक कल्याण बोर्ड के निदेशक ब्रिगेडियर एसके शर्मा ने कहा कि झुंझुनंू जिला सेना की नर्सरी है। जिले में करीब 52 हजार पंजीकृत पूर्व सैनिक हैं और करीब 26 हजार सेवारत। सैनिक बाहुल्य जिले में सुविधाओं का विकास करने की बात कहते हुए उन्होंने कहा कि पूर्व सैनिकों के आरक्षण को एससी, एसटी, ओबीसी की बजाय पूर्व सैनिक श्रेणी में रखा जाना चाहिए। उन्होंने बताया कि चिड़ावा व बुहाना में ईसीएचएस अस्पताल शीघ्र ही खुलेगा। उन्होंने पूर्व सैनिकों को कई योजनाओं के बारे में भी जानकारी दी।

एकजुटता पर दिया जोर
कार्यक्रम में वक्ताओं ने एकजुटता पर जोर देते हुए कहा कि समस्याओं को उठाने के लिए लोकसभा व विधानसभा में प्रतिनिधि होने चाहिए। इसके लिए पूर्व सैनिकों को एकजुट होकर प्रयास करने होंगे। वहीं पूर्व सैनिकों के लिए भी आयोग बनाए जाने पर जोर दिया। इसके अलावा पाठ्यपुस्तकों में देश के महान सपूतों की जीवनी को भी शामिल करने की मांग की गई।

केस-एक
टीटनवाड़ की वीरांगना सरोज देवी के पति सम्पतलाल 2010 में शहीद हुए थे। सेना की ओर से गैलेंट्री अवार्ड भी दिया गया, लेकिन उसे अभी तक शहीद पैकेज में शामिल बी ग्रेड का फ्लेट नहीं मिला। न ही शहीद के नाम पर स्कूल का नामकरण हुआ। गांव में शहीद स्मारक बनाने के लिए जो जमीन है उसमें भी बिजली वालों ने खंभे गाड़ दिए।

केस-दो
जाखल के पूर्व सैनिक लादूसिंह को मोहनगढ़ में 24.5 बीघा भूमि आवंटित की गई। कुछ समय बाद ही उनका निधन हो गया। अब उनकी पत्नी संतोष इस जमीन के टुकड़े के लिए चक्कर काट रही है। संतोष ने बताया कि पति की मौत के बाद अधिकारियों ने बिना सूचना के उसकी भूमि रद्द कर दूसरे को आवंटित कर दी।

इनका हुआ सम्मान
समारोह में पूर्व सैनिकों व शहीद वीरांगनाओं का सम्मान किया गया। इसके अलावा ईसीएचएस को सहयोग प्रदान करने वाले भामाशाहों का भी सम्मान किया गया। समारोह में शहीद वीरांगना मनोहरी देवी, डॉ. जेसी जैन, मदनलाल, मदनलाल परसरामपुरिया, सुरेश कुमार, अरूण अग्रवाल, अुर्जनसिंह, सूबेदार मोहनलाल, राजेश कुमार आदि का सम्मान किया गया।

ये थे अतिथि
कार्यक्रम में कर्नल आरके सिंह, नारायणसिंह जानू, बिरजूसिंह, फूलसिंह, लियाकत, विंग कमाण्डर शिवनारायण सूरा, मेजर प्रतापसिंह, जयराम, जी सुखराम, एचआर यादव, जिला सैनिक कल्याण अधिकारी कमाण्डर अम्मीलाल कृष्णियां अतिथि के रूप में मौजूद थे।

नहीं पहुंचे प्रशासनिक अधिकारी
सैनिक बाहुल्य जिले के पूर्व सैनिकों की समस्याओं के प्रति प्रशासन कितना गंभीर है, इसकी बानगी बुधवार को यहां रैली में देखने को मिली। रैली में न तो कोई प्रशासनिक अधिकारी पहुंचा और न ही प्रशासन से संबंधित उनकी समस्याओं के समाधान के लिए कोई स्टाल लगाई गई। जिला सैनिक कल्याण अधिकारी अम्मीलाल कृष्णियां ने बताया कि इस संबंध में जिला कलक्टर को आमंत्रित किया गया था, मगर वे नहीं पहुंचे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

Constable Paper Leak: राजस्थान कांस्टेबल परीक्षा रद्द, आठ गिरफ्तार, 16 मई के पेपर पर भी लीक का सायाबॉर्डर पर चीन की नई चाल, अरुणाचल सीमा पर तेजी से बुनियादी ढांचा बढ़ा रहा चीनगेहूं के निर्यात पर बैन पर भारत के समर्थन में आया चीन, G7 देशों को दिया करारा जवाब30 साल बाद फ्रांस को फिर से मिली महिला पीएम, राष्ट्रपति मैक्रों ने श्रम मंत्री एलिजाबेथ बोर्न को नियुक्त किया नया पीएमSri Lanka में अब तक का सबसे बड़ा संकट, केवल एक दिन का बचा है पेट्रोल'हिन्दी' बॉक्स ऑफिस पर 'बादशाहत': दक्षिण की फिल्मों का धमाल बॉलीवुड के लिए कड़ी चुनौतीHoroscope Today 17 May 2022: आज इन राशि वालों के जीवन में होगा मंगल ही मंगल, आर्थिक कष्टों का निकलेगा हलHoroscope Today 17 May 2022: आज इन राशि वालों के जीवन में होगा मंगल ही मंगल, आर्थिक कष्टों का निकलेगा हल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.